स्विट्जरलैंड सरकार अब बैंक धारकों की जानकारी प्राइवेट नही रखेगी 

नई दिल्ली: कालेधन के मुद्दे पर भारत सहित दुनियाभर से बने दबाव के बीच स्विट्जरलैंड सरकार ने वित्तीय मामलों में सख्ती से निजता बरतने की मंजूरी देने जैसी लोकप्रिय पहल को खारिज कर दिया.

 

स्विट्जरलैंड सरकार का यह निर्णय ऐसे समय आया है जब दुनियाभर से वित्तीय तंत्र में आने वाले अवैध कोष प्रवाह को रोकने के लिये दबाव बढ़ा है और उसने अपने कुख्यात बैंकिंग गोपनीयता नियम को भी धीरे धीरे समाप्त करना शुरू किया है.

 

स्विस फेडरल काउंसिल ने आज कहा कि वह इस प्रस्ताव को खारिज करती है. परिषद ने कहा कि मनी लांड्रिंग और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई के परिणाम इस बात पर निर्भर करती है कि इनके खिलाफ की जा रही पहलों को किस प्रकार परिभाषित किया जाता है.

 

परिषद ने कहा, ‘‘इस पहल का मनी लांड्रिंग और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई पर नकारात्मक असर पड़ सकता है.’’ परिषद ने एक वक्तव्य में कहा, ‘‘निजता को संरक्षण दिये जाने को मंजूरी देने की लोकप्रिय पहल को वह खारिज करने की सिफारिश करती है और इसे संसद के ध्यानार्थ भेजती है.’’ स्विट्जरलैंड बैंकिंग क्षेत्र में अटूट गोपनीयता के लिये जाना जाता है, लेकिन अब वह अवैध धन के प्रवाह के मामले में भारत सहित दुनिया भर के देशों के दबाव में है.

Tags:
author

Author: