ये कैसा फैसला: क्या कल रात इस खिलाड़ी से छीना गया उसका हक?

ये कैसा फैसला: क्या कल रात इस खिलाड़ी से छीना गया उसका हक?ये कैसा फैसला: क्या कल रात इस खिलाड़ी से छीना गया उसका हक?

(शिवम् अवस्थी), नई दिल्ली। आइपीएल-10 के एक अहम मुकाबले में कल रात मोहाली के मैदान पर कोलकाता नाइट राइडर्स और किंग्स इलेवन पंजाब आमने-सामने थे। कोलकाता पहले ही अगले राउंड में जगह बना चुकी है जबकि पंजाब को अपनी उम्मीदें कायम रखने के लिए ये मैच जीतना जरूरी था। हुआ भी यही। पंजाब ने ये मैच 14 रन से जीता और घरेलू फैंस को निराश नहीं किया लेकिन मैच खत्म होने के बाद एक फैसला ऐसा हुआ जिसने जरूर असमंजस में डाल दिया।

– ‘मैन ऑफ द मैच’ का फैसला

रवि शास्त्री जब ‘मैन ऑफ द मैच’ के पुरस्कार की घोषणा कर रहे थे तब सबकी नजरें उन पर टिकी थीं। शास्त्री ने एलान किया कि मैन ऑफ द मैच हैं मोहित शर्मा। पंजाब के इस पेसर को ये पुरस्कार तो मिल गया लेकिन इसने बेशक बहुत लोगों को चौंका जरूर दिया होगा। इन लोगों में उन कमेंटेटर्स के भी नाम हैं जो मैच खत्म होने के बाद सिर्फ और सिर्फ राहुल तेवतिया की तारीफ कर रहे थे और उन्हें मैच का हीरो बता रहे थे।

– पहले जानिए मैच में हुआ क्या

इस पुरस्कार का फैसला विवादित इसलिए है क्योंकि कल रात इस सीजन में अपना पहला मैच खेल रहे 23 वर्षीय राहुल तेवतिया ही मैच में असल ट्विस्ट लाए थे। पंजाब ने कोलकाता को 168 रनों का लक्ष्य दिया था। जवाब देने उतरी कोलकाता की टीम ने 9 ओवर में 1 विकेट के नुकसान पर 78 रन बना लिए थे। इसी दौरान राहुल ने एक ही ओवर में कोलकाता के कप्तान गौतम गंभीर (8) और धुआंधार बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा (0) को पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। कोलकाता की टीम बैकफुट पर आ गई और यहीं से मैच पलटना शुरू हुआ। वहीं, मोहित शर्मा ने पहला विकेट सुनील नरेन का लिया जबकि दूसरा विकेट 19वें ओवर में यूसुफ पठान का लिया।

– तो ये हैं आंकड़े..

मैच में राहुल ने 4 ओवर में 18 रन लुटाकर दो विकेट लिए जबकि मोहित ने 3 ओवर में 24 रन लुटाकर 2 विकेट किए। मोहित शर्मा ने 8 गेंदों पर कोई रन नहीं दिया जबकि राहुल ने 10 गेंदों पर कोई रन नहीं दिया। मोहित की गेंदों पर 3 चौके और 1 छक्का लगा जबकि राहुल ने अपने चार ओवरों में सिर्फ एक चौका जाने दिया। अब बात करते हैं कि किसकी भूमिका अहम रही। राहुल ने जहां टूर्नामेंट में 433 रन बना चुके गंभीर और 384 रन बना चुके उथप्पा को पवेलियन पहुंचाया। वहीं, दूसरी तरफ मोहित ने नरेन को आउट किया जिसकी भरपाई क्रिस लिन (84) ने कर ही दी थी। उसके बाद जब अंतिम दो ओवरों में कोलकाता को 29 रन चाहिए थे तब मोहित ने 19वें ओवर की पहली गेंद पर यूसुफ पठान (2) को आउट किया जिनका बल्ला कभी-कभी ही चलता है, जबकि इसी ओवर में मोहित ने एक छक्के के साथ कुल 9 रन भी लुटाए। अब इन सब चीजों को देखते हुए कौन है ‘मैन ऑफ द मैच’ का हकदार ये आप ही तय करें।

– इससे पहले भी हो चुका है ऐसा

वैसे, इस आइपीएल सीजन के 40वें मैच में जब दिल्ली के कोटला मैदान पर दिल्ली डेयरडेविल्स और सनराइजर्स हैदराबाद की टीमें आमने-सामने थीं, तब भी कुछ ऐसा ही हुआ था। उस मैच में दिल्ली के गेंदबाज मोहम्मद शमी को मैन ऑफ द मैच चुना गया था। मैच में हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 185 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था जिस दौरान शमी ने 4 ओवर में 36 रन लुटाते हुए 2 विकेट लिए थे। स्कोर को देखते हुए ये किसी अंतरराष्ट्रीय स्तर के पेसर का बेहद खास प्रदर्शन नहीं था। जब दिल्ली जवाब देने उतरी तो उसने 148 रन पर अपने चार अहम विकेट गंवा दिए थे। तब न्यूजीलैंड के कोरी एंडरसन ने 24 गेंदों पर तीन छक्कों और 2 चौकों की मदद से नाबाद 41 रन बनाकर अपनी टीम को जीत दिलाई थी लेकिन उन्हें मैन ऑफ द मैच नहीं चुना गया।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: