बैडमिंटन: सिंगापुर ओपन के फाइनल में श्रीकांत के सामना होगी प्रणीत की चुनौती

बैडमिंटन: सिंगापुर ओपन के फाइनल में श्रीकांत के सामना होगी प्रणीत की चुनौतीबैडमिंटन: सिंगापुर ओपन के फाइनल में श्रीकांत के सामना होगी प्रणीत की चुनौती

सिंगापुर। किदाम्बी श्रीकांत और साई प्रणीत ने आज यहां सेमीफाइनल में आसान जीत दर्ज कर सिंगापुर ओपन सुपर सीरीज बैडमिंटन टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई जिससे पुरुष एकल फाइनल भारतीय खिलाड़ियों का मुकाबला होगा। दुनिया के पूर्व नंबर तीन खिलाड़ी श्रीकांत ने दुनिया के 26वें नंबर के खिलाडी एंथोनी सिनीसुका गिंटिंग पर 21-13 21-14 से जीत दर्ज कर अपने करियर में तीसरे सुपर सीरीज फाइनल में प्रवेश किया।

भारत के लिए यह दोहरी सफलता रही और संभवत: यह खेल में पहला मौका है जब दो भारतीय खिलाड़ी सुपर सीरीज टूर्नमेंट में खिताब के लिए एक दूसरे के आमने-सामने होंगे। इससे पहले प्रणीत ने पूरे दबदबे के साथ खेलते हुए कोरिया के ली डोंग कियुन को आसानी से 38 मिनट में पराजित किया।

प्रणीत ने अपनी शानदार फॉर्म जारी रखी और एकतरफा सेमीफाइनल में कोरियाई मास्टर ग्रां प्री गोल्ड के विजेता ली को 21-6 21-8 से हराया। यह पहला अवसर है जबकि प्रणीत ने किसी सुपर सीरीज के फाइनल में जगह बनाई। वह जनवरी में सैयद मोदी ग्रां प्री गोल्ड के भी फाइनल में पहुंचे थे। पिछले साल कनाडा ओपन जीतने वाले यह 24 वर्षीय हैदराबादी खिलाड़ी बेहतर रणनीति के साथ कोर्ट पर उतरा उन्होंने इस पर पूरी तरह से अमल किया। उन्होंने पहले गेम में अपने प्रतिद्वंद्वी को थोडा भी मौका नहीं दिया।

प्रणीत ने दूसरे गेम में भी अपना दबदबा बनाए रखा और जल्द ही 9-1 से बढ़त बना दी। कोरियाई खिलाड़ी ने बीच में उनकी यह बढ़त 4-10 से कम की लेकिन ब्रेक तक प्रणीत 11-4 से आगे थे। इसके बाद उन्होंने आसानी से यह गेम और मैच अपने नाम किया। इसके बाद श्रीकांत ने फिर दिखा दिया कि उन्हें इस समय भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ियों में से सर्वश्रेष्ठ क्यों माना जाता है। उन्होंने शुरुआती गेम में 4-9 से पिछड़ने के बाद वापसी की और मुड़कर नहीं देखा।

दिलचस्प बात है कि प्रणीत का अपने इस हमवतन खिलाड़ी के खिलाफ जीत का रेकॉर्ड 4-1 का है जिसने 2014 चाइना सुपर सीरीज प्रीमियर और 2015 इंडिया सुपर सीरीज जीतने के अलावा रियो ओलंपिक के भी क्वॉर्टरफाइनल में प्रवेश किया था।

आइपीएल की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: