बैडमिंटन: बी साई प्रणीत ने पहली बार जीता सिंगापुर ओपन सुपर सीरीज का खिताब

बैडमिंटन: बी साई प्रणीत ने पहली बार जीता सिंगापुर ओपन सुपर सीरीज का खिताबबैडमिंटन: बी साई प्रणीत ने पहली बार जीता सिंगापुर ओपन सुपर सीरीज का खिताब

नई दिल्ली, जेएनएन। भारत के बी साई प्रणीत ने सिंगापुर ओपन सुपर सीरीज जीत लिया है। उन्होंने फाइनल में अपने हमवतन किदाम्बी श्रीकांत को 17-21, 21-17, 21-12 से मात दी। प्रणीत इस खिताब को जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी बन गए हैं। प्रणीत के करियर का भी यह पहला सुपरसीरीज खिताब है।

आपको बता दें कि ये पहली मौका था जब किसी सुपर सीरीज का फाइनल दो भारतीय खिलाड़ियों के बीच खेला गया। भारत से पहले चीन, डेनमार्क और इंडोनेशिया ही ऐसे देश थे जिनके खिलाडि़यों के बीच फाइनल मुकाबला खेला गया था। प्रणीत का अपने इस हमवतन खिलाड़ी के खिलाफ जीत का रिकार्ड 4-1 का था जिसे उन्होंने 5-1 कर दिया है।

इस मुकाबले में पहले गेम की शुरुआत दोनों के बीच रोमांचक रही। एक समय दोनों खिलाड़ियों का स्कोर 5-5 से बराबरी पर था, लेकिन श्रीकांत ने लगातार चार अंक हासिल करत हुए अपनी 9-5 कर ली। यहां से श्रीकांत ने प्रणीत को एकबार भी बराबरी करने का मौका नहीं दिया और पहला गेम 21-17 से जीत लिया।

पहला गेम हारने और दूसरे गेम में एक समय 2-7 से पिछड़ने के बाद प्रणीत ने अचानक गियर बदला और आक्रामकता तेज कर दी। प्रणीत ने पहले स्कोर 7-7 से बराबर कर लिया। गेम के मध्य में दोनों के बीच एक-एक अंक के लिए कांटे की टक्कर देखने को मिली। 13-14 से पीछे चल रहे प्रणीत ने अगले आठ अंक अर्जित करने के दौरान श्रीकांत को सिर्फ तीन अंक लेने दिए और 21-17 से जीत हासिल की।

दूसरा गेम जीत मैच में बराबरी पर आ खड़े हुए प्रणीत ने तीसरे गेम की शुरुआत आत्मविश्वास के साथ की। पहला दो अंक हासिल करने वाले श्रीकांत इसके बाद प्रणीत के आगे जरा भी नहीं टिक सके। प्रणीत ने दमदार खेल का प्रदर्शन करते हुए जल्द ही 10-3 से बड़ी बढ़त ले ली।

श्रीकांत ने थोड़ा संघर्ष तेज किया और प्रणीत को लगातार अंक लेने से रोका, लेकिन प्रणीत स्कोर का अंतर अंत तक कायम रखने में सफल रहे। प्रणीत ने अंतत: श्रीकांत को 21-12 से करारी मात देते हुए न सिर्फ तीसरा गेम जीता बल्कि करियर का पहला सुपरसीरीज खिताब भी हासिल किया।

सिंगापुर ओपन से पहले प्रणीत और श्रीकांत का सामना चार बार एक-दूसरे से हुआ था और श्रीकांत को इसमें सिर्फ एक बार जीत मिली थी।

प्रणीत ने जनवरी में सैयद मोदी ग्रां प्री गोल्ड के भी फाइनल में पहुंचे थे। पिछले साल कनाडा ओपन जीतने वाले यह 24 वर्षीय हैदराबादी खिलाड़ी बेहतर रणनीति के साथ कोर्ट पर उतरा उन्होंने इस पर पूरी तरह से अमल किया। उन्होंने पहले गेम में अपने प्रतिद्वंद्वी को थोडा भी मौका नहीं दिया।

आइपीएल की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: