पुणे सुपर जाइंट को खलेगी बेन स्टोक्स की कमी

पुणे सुपर जाइंट को खलेगी बेन स्टोक्स की कमीपुणे सुपर जाइंट को खलेगी बेन स्टोक्स की कमी

 (गावस्कर का कॉलम) 

 मंगलवार को होने वाले मैच से यह फैसला होगा कि आइपीएल-2017 के फाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम कौन सी होगी। मुंबई इंडियंस ने शानदार तरीके से कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ जीत दर्ज कर अंक तालिका में शीर्ष स्थान हासिल किया। जबकि पुणे टीम ने उम्दा क्रिकेट खेलते हुए दूसरा स्थान सुनिश्चित किया। जिस ढंग से उन्होंने किंग्स इलेवन पंजाब को ऑलआउट किया, मुंबई इंडियंस ने उस पर जरूर ध्यान दिया होगा। पुणे की टीम ने गेंद से शीर्ष स्तरीय खेल दिखाया। बाद में बल्लेबाजों ने बिना किसी समस्या के लक्ष्य हासिल कर लिया। 

महाराष्ट्र में हुए दो पिछले मैचों में पुणे की टीम विजयी रही है, इससे उनका आत्मविश्वास बढ़ा होगा। हालांकि इस बार टीम में बेन स्टोक्स जैसे खिलाड़ी नहीं होंगे। निश्चित तौर पर टीम को उनकी कमी खलेगी। उनकी ऊर्जा, प्रतिबद्धता और कौशल की वजह से पुणे की टीम पिछले सत्र की तुलना में काफी अलग दिख रही थी। ऐसा कम ही होता है जब एक खिलाड़ी का प्रभाव इतना ज्यादा होता है, लेकिन स्टोक्स ने ऐसा किया। क्रिकेट एक टीम गेम है, लेकिन कुछ खिलाड़ी ऐसे होते हैं, जो मैच को खिलाड़ी बनाम विपक्षी टीम बना देते हैं। कपिल देव, इयान बॉथम, जावेद मियादाद, सचिन तेंदुलकर, ब्रायन लारा, एबी डिविलियर्स, विराट कोहली ऐसे ही कुछ खिलाड़ी हैं और अब इस सूची में स्टोक्स का नाम है। एक बात तो तय है कि पुणे के मालिक ने उन्हें टीम में बने रहने के लिए बोनस का लालच दिया होगा, लेकिन वह देश के अनुबंध से बंधे हैं और देश हमेशा किसी क्लब या फ्रेंचाइजी से पहले आता है। 

मुंबई ने पिछले मैच में छह बदलाव कर बेंच पर बैठे खिलाडिय़ों की मजबूती को भी दिखा दिया। वे सबसे ज्यादा खुश चोट के बाद वापसी कर रहे अंबाती रायुडू की फॉर्म से होंगे। वह एक अनुभवी खिलाड़ी हैं और जिस ढंग से उन्होंने पारी को आगे बढ़ाया, फिर आक्रामक शॉट लगाए, वह सच में शानदार है। इस खास मैच की खूबसूरती इसी बात में है दोनों टीमों को पता है कि हारने के बावजूद उनके पास फाइनल में जगह बनाने का एक और मौका होगा। इस वजह से दोनों बेखौफ होकर मैदान में उतरेंगे, जिससे दर्शकों का मनोरंजन तय है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: