पाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफी तो जीता, पर इनाम के बंटवारे पर हो रही है लड़ाई

पाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफी तो जीता, पर इनाम के बंटवारे पर हो रही है लड़ाईपाकिस्तान चैंपियंस ट्रॉफी तो जीता, पर इनाम के बंटवारे पर हो रही है लड़ाई

कराची, पीटीआइ। पाकिस्तान ने भारत को हराकर पहली बार आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम तो कर ली, लेकिन अब इसके बाद इनाम के बंटवारे को लेकर वहां पूर्व खिलाड़ियों और क्रिकेट प्रशासकों के बीच ठन गई है। पाकिस्तान की इस जीत पर टीम के मुख्य चयनकर्ता इंजमाम उल हक को एक करोड़ रुपये का पुरस्कार दिया गया है। यही सारे विवाद की जड़ बनता जा रहा है।

इंजमाम को मिली इस भारी-भरकम राशि पर सवाल उठाए जा रहे हैं। बीते मंगलवार को इस्लामाबाद में चैंपियंस ट्रॉफी की विजेता टीम के सम्मान में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने एक समारोह आयोजित किया था।

इस सम्मान समारोह में टीम के अन्य चयनकर्ताओं तौसीफ अहमद, वसीम हैदर और वजाहतुल्लाह वस्ती को केवल 10-10 लाख रुपए दिए गए। इससे नाराज पूर्व मुख्य चयनकर्ता इकबाल कासिम ने कहा, ‘मुख्य चयनकर्ता (इंजमाम) को इतनी बड़ी धनराशि देने का कोई मतलब नहीं बनता।’ 

इकबाल कासिम के सवाल इसलिए भी जायज हैं क्योंकि इस जीत के बाद पाकिस्तानी टीम के मुख्य कोच और अन्य कोचिंग स्टाफ में से सभी को 50-50 लाख रुपए ही दिए गए। कासिम ने सवाल उठाया है, ‘अन्य चयनकर्ताओं को पैसा देने में इतना भेदभाव क्यों किया गया।’

 

 

एक अन्य पूर्व चयनकर्ता और मुख्य कोच रहे मोहसिन खान ने कहा, ‘जिस मुख्य कोच ने इग्लैंड में अहम भूमिका निभाई, उसे 50 लाख रुपये ही दिए गए जबकि इंग्लैंड का दौरा न करने वाले मुख्य चयनकर्ता (इंजमाम) को उनसे दोगुनी राशि दी गई। इसके अलावा उन्होंने कहा, ‘इससे पहले कब टीम के अच्छे प्रदर्शन पर मुख्य चयनकर्ता को पुरस्कृत किया गया? यही धनराशि खेल के विकास में लगाई जा सकती थी।’ 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

By
Bharat Singh 

Tags:
author

Author: