देश का नाम ऊंचा करने वाली साक्षी ने बोली ऐसी बात, हर देशवासी को लग जाएगा बुरा

देश का नाम ऊंचा करने वाली साक्षी ने बोली ऐसी बात, हर देशवासी को लग जाएगा बुरादेश का नाम ऊंचा करने वाली साक्षी ने बोली ऐसी बात, हर देशवासी को लग जाएगा बुरा

नई दिल्ली, पीटीआइ। एशियाई कुश्ती चैंपियनशिप में भारत के लिए रजत पदक जीतने वाली ओलंपियन पहलवान साक्षी मलिक ने चौंकाने वााली बात बोली है। साक्षी इस प्रतियोगिता के फाइनल में जापानी खिलाड़ी से हार गई और हारने के बाद रियो ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता खिलाड़ी ने जो बात कही, उसे सुनकर आपको अच्छा नहीं लगेगा। 

यूं तो खेल में हार-जीत लगी रहती है, लेकिन जो खिलाड़ी खुद ही हार मान ले तो उसे क्या कहा जा सकता है। साक्षी मलिक ने इस चैंपियनशिप के फाइनल में हार के बाद कहा है कि कम से कम इस जिंदगी में तो जापानी पहलवानों को हराना नामुमकिन है।

आपको बता दें कि भारत की ओर से साक्षी, विनेश फोगाट और दिव्या ककरान एशियाई चैंपियनशिप में अपने-अपने भार वर्गों के फाइनल में पहुंची थीं। ये तीनों भारतीय पहलवान स्वर्ण पदक के मुकाबले में जापानी पहलवानों से हार गईं और उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा था।

रियो ओलिंपिक में 63 किग्रा में स्वर्ण पदक जीतने वालीं रिसाको कवाई ने साक्षी को 60 किग्रा के फाइनल में आसानी से हराया। रियो खेलों की एक और चैंपियन सारा दोशो ने दिव्या ककरान को 69 किग्रा भार वर्ग में हराया। साक्षी और दिव्या कोई भी जापानी पहलवानों के मुकाबले में छह मिनट तक भी नहीं टिक पाई थीं। 

विनेश ने साई नांजो का कुछ देर मुकाबला किया लेकिन आखिर में उन्हें भी हार ही मिली। इस मुकाबल के बाद साक्षी ने भारतीय खेल प्रेमियों का दिल तोड़ने वाली बात कही। उन्होंने कहा, ‘जापानी खिलाड़ियों को हराना बहुत मुश्किल है। इस पूरी जिंदगी में उनकी बराबरी करना बहुत लगभग असंभव है। हमें उन्हें हराने के लिये अगला जन्म लेना होगा।’

साक्षी ने इसकी वजह बताई, ‘जापानी पहलवान कौशल और तकनीक के मामले में हमसे कहीं बेहतर हैं। वे बेहद चुस्त और मैट पर काफी तेज होती हैं। अधिकतर समय हम उनकी तेजी की बराबरी नहीं कर पाते हैं। हमें उन्हें चुनौती देने के लिए अपनी तेजी काफी बढ़ानी होगी।’

आइपीएल की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: