जिम्बाब्वे ने श्रीलंका को चौथे वनडे में 4 विकेट से हराया

जिम्बाब्वे ने श्रीलंका को चौथे वनडे में 4 विकेट से हरायाजिम्बाब्वे ने श्रीलंका को चौथे वनडे में 4 विकेट से हराया

हंबनटोटा। श्रीलंका और जिम्बाब्वे के बीच खेले गए चौथे वनडे मुकाबले में श्रीलंका को हार का सामना करना पड़ा। जिम्बाब्वे ने श्रीलंका को डकवर्थ लुईस नियम की सहायता से चार विकेट से रहा दिया। इस जीत के साथ ही मेहमान टीम ने पांच मैचों की सीरीज में 2-2 से बराबरी भी की। जिम्बाब्वे की तरफ से क्रैग इरविन (65*) ने शानदार नाबाद पारी खेली और अपनी टीम को जीत दिलाई। इससे पहले श्रीलंका की तरफ से सलामी बल्लेबाज़ निरोशन डिकवेला (116) ने शानदार शतक जमाया, जो बेकार गया। यह वर्तमान सीरीज में उनका लगातार दूसरा शतक था।

श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में 300/6 का स्कोर खड़ा किया, लेकिन मैच में बारिश पड़ने की वजह से जिम्बाब्वे के सामने डकवर्थ लुईस नियम की सहायता से 31 ओवरों में 219 रन का लक्ष्य रखा गया, जिसके जवाब में जिम्बाब्वे ने संभली हुई शुरुआत की। दोनों सलामी बल्लेबाजों ने पहले विकेट के लिए 58 गेंदों में शानदार 67 रन जोड़े, जहां हैमिल्टन मसाकाद्जा (28) और सोलोमन मीरे (43) ने अपनी टीम को ठोस शुरुआत दिलाई। मेहमानों को पहला झटका डी सिल्वा ने दिया। उन्होंने मसाकाद्जा को अपना शिकार बनाया। इसके बाद खतरनाक लग रहे मीरे को भी डी सिल्वा ने कप्तान एंजिलो मैथ्यूज के हाथों की शोभा बनाया। टी मुसाकंदा (30) ने भी अपनी टीम के लिए अच्छा योगदान दिया। इनके अलावा सीन विलियम्स (6) कुछ खास नहीं कर सके। सिकंदर रजा (10) ने भी खासा मायूस किया, लेकिन क्रैग इरविन (65*) अंत तक खड़े रहे और अपनी टीम को शानदार जीत दिलाई। उन्होंने अपनी इस बेहतरीन पारी के लिए 54 गेंदों का सामना किया, जिसमें 8 चौके और 1 छक्का शामिल है। एम वॉलर (20) ने भी शानदार योगदान दिया।

ज़िम्बाब्वे ने लक्ष्य को 29.2 ओवर में ही अपने 6 विकेट खोकर हासिल कर लिया और सीरीज में 2-2 से बराबरी भी की। इससे पहले श्रीलंका की तरफ से निरोशन डिकवेला (116), दनुश्का गुनाथिलका (87), एंजेलो मैथ्यूज (42) ने शानदार पारियां खेलीं। इन सभी के अलावा उपुल थरंगा (22), डी सिल्वा (19*) ने भी महत्वपूर्ण पारियां खेली। एसेला गुनारत्ने (1) और कुसल मेंडिस (0) अपनी टीम के कुछ नहीं कर पाए। 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

By
Sanjay Savern 

Tags:
author

Author: