चैंपियंस लीग: गोंजालो के बेहतरीन डबल से सेमीफाइनल के पहले चरण में जीता जुवेंटस

चैंपियंस लीग: गोंजालो के बेहतरीन डबल से सेमीफाइनल के पहले चरण में जीता जुवेंटसचैंपियंस लीग: गोंजालो के बेहतरीन डबल से सेमीफाइनल के पहले चरण में जीता जुवेंटस

मोनाको, एएफपी। स्टार स्ट्राइकर गोंजालो हिगुएन के बेहतरीन डबल (दो गोल) की मदद से जुवेंट्स ने चैंपियंस लीग के सेमीफाइनल के पहले चरण के मुकाबले में मोनाको को उसके घर में मात दी। 

गोंजालो ने घरेलू दर्शकों को ज्यादा खुश होने का मौका नहीं दिया और जुवेंटस ने 2-0 से जीत दर्ज करते हुए अगले महीने कार्डिफ में होने वाले फाइनल में पहुंचने के लिए अपनी जगह मजबूत की। 

28 साल के गोंजालो के ये दोनों गोल दानी अल्वेस की मदद से आए। अर्जेटीनी हिटमैन गोंजालो ने 29वें मिनट में गोल कर अपनी टीम जुवेंटस का खाता खोला, जबकि 59वें मिनट में दूसरा गोल दागा। अब दोनों टीमों के बीच दूसरे चरण का मुकाबला अगले मंगलवार को तुरीन में खेला जाएगा। जुवेंटस ने पिछले साल नपोली से गोंजालो को अपनी टीम में जुआन कुआड्राडो की जगह शामिल किया था और उन्होंने इस मैच के जरिये अपनी टीम को बता दिया कि वह कितने उपयोगी फुटबॉलर है। 

स्टेड लुई सेकेंड स्टेडियम में मोनाको ने अपने पिछले 13 मैचों में शानदार जीत हासिल की थी और उसका अभियान अच्छा चल रहा था, लेकिन उनके डिफेंडरों की जुवेंटस के खिलाफ एक नहीं चली। गोंजालो ने सात मैचों में गोल नहीं कर पाने का सूखा खत्म किया। जुवेंटस के कोच मैसिमिलियानो एलेग्री का मैच में अपने चार पसंदीदा खिलाड़ियों को खिलाने का फैसला काम कर गया। 

मोनाको ने मैच की शुरुआत धीमी की और युवा खिलाड़ी केलिएन ने हेडर के जरिए जुवेंटस के अनुभवी गोलकीपर जियानलुइगी बुफोन की परीक्षा लेनी चाही, लेकिन बुफोन ने उनके प्रयास को बेकार कर दिया। बुफोन 39 वर्ष की उम्र में 149वां यूरोपियन मैच खेल रहे थे। वहीं जुवेंटस ने धीरे-धीरे आक्रामक खेलना शुरू किया और इसका फायदा उन्हें गोल के रूप में मिला।

मोनाको की फॉरवर्ड लाइन सभी टूर्नामेंट में इस सत्र में कुल 146 गोल दाग चुकी है। लेकिन वह जुवेंटस के डिफेंस को भेद नहीं पाई। इससे पहले स्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो की हैट्रिक ने रीयल मैड्रिड को एटलेटिको मैड्रिड पर टूर्नामेंट के सेमीफाइनल के पहले चरण मुकाबले में 3-0 से जीत दिलाई थी।

जीत के बाद गोंजालो हिगुएन ने कहा, ‘मैं इस टूर्नामेंट में गोल नहीं कर पा रहा था, लेकिन मैं जानता था कि मुझे सिर्फ शांत रहते हुए कड़ी मेहनत करने की जरूरत है।’ वहीं, जुवेंटस के कोच मैसिमिलियानो एलेग्री ने कहा, ‘हम एक और मैच बिना गोल खाए जीतना चाहते थे और हम नतीजे से खुश हैं।’ 

आइपीएल की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: