कोई बिके या न बिके, अगली नीलामी में इस खिलाड़ी पर जरूर होगी करोड़ों की बरसात

कोई बिके या न बिके, अगली नीलामी में इस खिलाड़ी पर जरूर होगी करोड़ों की बरसातकोई बिके या न बिके, अगली नीलामी में इस खिलाड़ी पर जरूर होगी करोड़ों की बरसात

(शिवम् अवस्थी), स्पेशल डेस्क- नई दिल्ली। अगले साल होने वाली आइपीएल-11 की नीलामी बेहद अहम नीलामी होगी। यूं तो कहा गया है कि कुछ स्टार खिलाड़ियों को टीमें बरकरार रखेंगी लेकिन ज्यादातर खिलाड़ी बिकने के लिए मैदान में होंगे। ऐसे में तय है कि करोड़ों रुपये लुटाए जाएंगे और सभी खिलाड़ी इसका फायदा उठाना चाहेंगे। इन्हीं में एक खिलाड़ी कोलकाता नाइट राइडर्स से भी होगा जो इस नीलामी में सबको चौंका सकता है।

– केकेआर का ऑस्ट्रेलियाई धुरंधर

हम यहां बात कर रहे हैं इन दिनों कोलकाता नाइट राइडर्स की तरफ से धूम मचा रहे ऑस्ट्रेलिया के 27 वर्षीय खिलाड़ी क्रिस लिन की। मंगलवार रात इस ओपनर ने फिर अपना दम दिखाया और 52 गेदों पर 84 रन ठोक डाले। अपनी इस पारी में उन्होंने 3 छक्के और 8 चौके जड़े। उनकी टीम तो ये मैच हार गई लेकिन क्रिस लिन ने एक बार फिर सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। अगली नीलामी में उन पर टीमें करोड़ों लुटाकर खरीदने का प्रयास करेंगी, आइए जानते हैं इसकी असली वजह…..

– बार-बार, लगातार

अगली नीलामी में उन पर सबकी नजर इसलिए रहेगी क्योंकि आइपीएल के मौजूदा सीजन में जब से वो मैदान पर उतरे हैं, थमने का नहीं ले रहे हैं। कोलकाता ने इस खिलाड़ी को चार मैच पहले मौका देना शुरू किया और पहले ही मैच वो ‘मैन ऑफ द मैच’ बन गए। पिछले चार मैचों में ही उन्होंने खुद को साबित कर दिया। ये हैं उनके चार मैचों के आंकड़े,

पहला मैच- कोलकाता बनाम गुजरात- 41 गेंदों पर नाबाद 93 रन (6 चौके, 8 छक्के) 

दूसरा मैच- मुंबई बनाम कोलकाता- 24 गेंदों पर 32 रन (3 चौके, 1 छक्का)

तीसरा मैच- कोलकाता बनाम बैंगलोर- 22 गेंदों पर 50 रन (5 चौके, 4 छक्के)

चौथा मैच- पंजबा बनाम कोलकाता- 52 गेंदों पर 84 रन (8 चौके, 3 छक्के)

– कैसा रहा है क्रिकेट करियर?

क्रिस लिन पहली बार 19 की उम्र में चर्चा में आए थे जब उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की चर्चित शेफील्ड शील्ड चैंपियनशिप के दूसरे ही मैच में जोरदार शतक जड़ दिया। इसके बाद से उनकी धुआंधार पारियों की हर जगह चर्चा हुई और 2014 में उन्हें पहली बार ऑस्ट्रेलियाई टी20 टीम में जगह हासिल हुई जिससे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उनका आगाज हुआ। हालांकि वो पांच टी20 मैचों के बाद ऑस्ट्रेलियाई टी20 टीम से बाहर हो गए। कुछ समय तक उन्होंने अपने खेल पर ध्यान दिया और फिर पिछले साल ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग में ऐसा जोरदार प्रदर्शन किया कि ऑस्ट्रेलियाई टीम ने उन्हें वनडे टीम में जगह दे दी। आइपीएल की बात करें तो वो इस लीग से 2012 में डेक्कन चार्जर्स टीम से जुड़े। उस सीजन में एक मैच खेला और 2013 में हैदराबाद की टीम में शामिल होने के बावजूद पूरा सीजन बैठे ही रह गए। फिर 2014 में उन्हें कोलकाता की टीम ने खरीदा और सिर्फ दो मैच खेलने का मौका दिया। फिर 2015 में भी वो कुछ खास नहीं कर पाए और 2016 में भी उनको दो ही मैच खेलने को मिले जिसमें उन्होंने कुल 25 रन बनाए लेकिन इस बार उन्होंने चार मैचों में ही कहानी बदल दी है। देखना दिलचस्प होगा कि आगे वो और क्या-क्या करते हैं।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: