कोई ऐसे ही नहीं बन जाता जोंटी रोड्स, इनके पेशेवर रुख के मुरीद हो जाएंगे आप

कोई ऐसे ही नहीं बन जाता जोंटी रोड्स, इनके पेशेवर रुख के मुरीद हो जाएंगे आपकोई ऐसे ही नहीं बन जाता जोंटी रोड्स, इनके पेशेवर रुख के मुरीद हो जाएंगे आप

इंदौर (किरण वाईकर)। पूर्व दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर जोंटी रोड्‍स को दुनिया का श्रेष्ठतम फील्डर माना जाता है। उन्होंने यह मुकाम कैसे हासिल किया होगा इसका अंदाजा बुधवार को उन्हें होलकर स्टेडियम में मुंबई इंडियंस के क्रिकेटरों को फील्डिंग का अभ्यास करवाते देख हुआ।

इस दौरान रोड्‍स ने अपने पेशेवर रूख और वर्क कल्चर से स्टेडियम में मौजूद क्रिकेट के जानकारों का दिल जीत लिया। उन्होंने जिस तरह पूरी गंभीरता और प्रोफेशनलिज्म के साथ ‍अपने खिलाड़‍ियों से प्रैक्टिस करवाईवैसी लंबे समय में किसी कोच को करवाते हुए नहीं देखी है। मुंबई इंडियंस को गुरुवार को आईपीएल 2017 में किंग्स इलेवन पंजाब का सामना करना है। रोड्‍स ने मैच की पूर्वसंध्या पर मुंबई के हर क्रिकेटर को जमकर फील्डिंग की सभी विधाओं की प्रैक्टिस करवाईउनके लिए कोई भी खिलाड़ी छोटा या बड़ा नहीं था। वे इस दौरान लगने वाले सारे छोटेबड़े उपकरण स्वयं लेकर मैदान में आए और उन्हें अपने हिसाब से जमाया।

इसके बाद उन्होंने खिलाडि़यों को पहले डायरेक्ट पैरेलल कैचेस का अभ्यास कराया। इसके पश्चात खिलाड़‍ियों से स्टंप्स पर तथा दोनों साइड में थ्रो करवाए। खिलाड़ी तो दो या तीन के समूह में आ रहे थेलेकिन रोड्‍स उन्हें बिना रूके अभ्यास करवाते रहे।

उन्होंने इसके बाद लंबे पैरेलल शॉट्‍स पर कैचेस का अभ्यास करवाया और फिर सबसे अंत में सामने और पीछे की तरफ हाई कैचेस करवाए। यह सिलसिला दो घंटे से ज्यादा समय तक जारी रहा।

47 वर्षीय रोड्‍स बिना थके सभी खिलाडि़यों को प्रैक्टिस करवाते रहे और किसी खिलाड़ी की कोई कमजोरी नजर आने पर उन्होंने उससे ज्यादा मेहनत भी करवाई। अपने सत्र की समाप्ति के बाद खिलाड़ी तो निकल गएलेकिन रोड्‍स ने स्वयं अपने सभी उपकरणों को समेटासभी गेंदों को एकत्रित किया और फिर अपने बैग में रखा। आमतौर पर किसी भी कोच की मदद के लिए सहायक रहते हैं,लेकिन रोड्‍स ने किसी की भी सहायता नहीं ली और वे प्रैक्टिस के बाद खिलाडि़यों से बात भी करते रहे।

रोड्‍स ने 11 वर्ष के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर के दौरान 52 टेस्ट व 245 वनडे मैचों में दअफ्रीका का प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने वैसे तो कई बेमिसाल कैच लपके और कई शानदार रन आउट किएलेकिन1992 विश्व कप में उनके द्वारा पाकिस्तान के इंजमाम उल हक को रन आउट किया जाना कोई क्रिकेट फैन नहीं भुल सकता है।

 

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: 

Leave a Reply