कल महामुकाबले में इन 6 धुरंधरों पर होगी सबकी नजर, आपका फेवरेट कौन?

कल महामुकाबले में इन 6 धुरंधरों पर होगी सबकी नजर, आपका फेवरेट कौन?कल महामुकाबले में इन 6 धुरंधरों पर होगी सबकी नजर, आपका फेवरेट कौन?

[स्पेशल डेस्क], नई दिल्ली। आइपीएल-10 अब अपने सबसे बड़े मुकाबले की तरफ बढ़ चला है, यानी रविवार रात होने वाला टूर्नामेंट का अंतिम व फाइनल मैच। खिताबी भिड़ंत में आमने-सामने हैं- पहली और आखिरी बार आइपीएल फाइनल में जगह बनाने वाली पुणे की टीम (अनुबंध के मुताबिक ये उनका आखिरी सीजन है) और तीसरा खिताब जीतने की ख्वाइश लिए फाइनल में आने वाली मुंबई इंडियंस की टीम। आइए जानते हैं कि कल ‘सुपर संडे फाइनल’ में वो कौन से 6 खिलाड़ी हैं जो मैच की दिशा व दशा तय कर सकते हैं और आप भी तय करें कि आप किसके साथ हैं।

– स्टीवन स्मिथ (पुणे)

इस फ्रेंचाइजी ने 2017 के लिए टीम की कमान भारत के चहेते कप्तान धौनी से लेकर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ को सौंप दी थी। शुरुआत में तो अजीब लगा लेकिन फिर यही कप्तान टीम की जान बनता चला गया। अब तक स्मिथ ने 14 मैचों में 421 रन बनाए हैं जिसमें 2 अर्धशतक शामिल हैं। इस दौरान वो 3 बार नाबाद भी रहे हैं। वो टूर्नामेंट में रन बनाने वालों की सूची में टॉप-5 के अंदर पुणे के एकमात्र बल्लेबाज हैं और अनुभव के दम पर फाइनल में वो विरोधी टीम के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं।

– पार्थिव पटेल (मुंबई इंडियंस)

आपको भी जानकर हैरानी होगी कि आइपीएल-10 में सर्वाधिक रन बनाने के मामले में मुंबई का कोई भी बल्लेबाज टॉप-5 में नहीं है। इसके बावजूद उनकी टीम फाइनल में है। हालांकि एक बल्लेबाज जो इस लिस्ट में इनकी लाज को बचाए हुए है वो हैं ओपनर पार्थिव पटेल जो आठवें पायदान पर हैं। पार्थिव ने अब तक 15 मैचों में 391 रन बनाए हैं और उनके नाम 2 अर्धशतक दर्ज हैं। फाइनल मैच में पुणे के गेंदबाजों को इस ओपनर पर लगाम लगानी होगी क्योंकि उनके पास धुआंधार बल्लेबाजी के हुनर के साथ-साथ अनुभव भी है।  

– जयदेव उनादकट (पुणे)

टूर्नामेंट की शुरुआत में इस गेंदबाज का चयन आलोचनाओं के घेरे में था लेकिन जैसे-जैसे टूर्नामेंट आगे बढ़ा, सोच बदलती गई। सोच बदलने की वजह है उनका प्रदर्शन। वो अब तक 11 मैचों में 22 विकेट लेकर टूर्नामेंट में सर्वाधिक विकेट लेने के मामले में दूसरे नंबर पर चल रहे हैं। वो सिर्फ हैदराबाद के भुवनेश्वर कुमार (14 मैचों में 26 विकेट) से पीछे हैं यानी फाइनल में भुवनेश्वर की गैरमौजूदगी में उनादकट पर्पल कैप (सर्वाधिक विकेट लेने वाले खिलाड़ी को मिलने वाली कैप) भी हासिल कर सकते हैं। उनके नाम एक हैट्रिक भी दर्ज है और विरोधी बल्लेबाजों को खिताबी भिड़ंत में उनसे संभलकर रहना होगा।

– कीरोन पोलार्ड (मुंबई)

मध्यक्रम में दुनिया के सबसे घातक टी20 बल्लेबाजों में से एक है कीरोन पोलार्ड। हमेशा की तरह इस बार भी उन्होंने कुछ मौकों पर खुद को साबित करके दिखाया है। ये साफ है कि अगर इस कैरेबियाई बल्लेबाज का बल्ला चला तो पुणे की खैर नहीं। पोलार्ड ने अब तक 16 मैचों में 3 अर्धशतक के साथ 369 रन बनाए हैं। वो बड़े मैचों में कई बार विरोधी गेंदबाजों को पस्त करते नजर आए हैं और इस फाइनल में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिल सकता है। 

– राहुल त्रिपाठी (पुणे)

पुणे के ओपनर राहुल त्रिपाठी इस टूर्नामेंट की बड़ी खोज बताए जा रहे हैं। अब तक 13 मैचों में 388 रन बनाने वाले इस धुरंधर ने 149.80 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं जो टॉप-10 बल्लेबाजों में रॉबिन उथप्पा (166.81) के बाद सबसे ज्यादा है। वो पारी में तेज शुरुआत करने का दम रखते हैं और विरोधी टीम के गेंदबाजों को उनके आक्रमण से सावधान रहना होगा। राहुल टूर्नामेंट में अब तक 2 अर्धशतक जड़ चुके हैं। बस चिंता का विषय ये होगा कि पिछले मैच (पहला क्वालीफायर) में मुंबई इंडियंस के खिलाफ वो शून्य पर आउट हो गए थे।

– जसप्रीत बुमराह (मुंबई)

न्यूजीलैंड के पेसर मिचेल मैक्लेंघन (19 विकेट) अब तक टूर्नामेंट में मुंबई की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं लेकिन शुक्रवार को दूसरे क्वालीफायर में चोटिल होने की वजह से वो नहीं खेले और फाइनल में भी उनका खेलना संदेह के घेरे में है। ऐसे में जसप्रीत बुमराह पर ही सबकी उम्मीदें टिकी होंगी जो अब तक 15 मैचों में 18 विकेट ले चुके हैं और दूसरे क्वालीफायर में कोलकाता के खिलाफ शुक्रवार को उन्होंने 7 रन देते हुए 3 विकेट लेकर अपना दम भी दिखाया है।

——————————————-

– शिवम् अवस्थी

यह भी पढ़ेंः एक कंगारू इनको समझ गया लेकिन भारत में अपने लोग करते रह गए आलोचना

Tags:
author

Author: