एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप: विकास को मिली हरी झंडी, हैट्रिक बनाने पर है नज़र

एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप: विकास को मिली हरी झंडी, हैट्रिक बनाने पर है नज़रएशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप: विकास को मिली हरी झंडी, हैट्रिक बनाने पर है नज़र

भुवनेश्वर, प्रेट्र : डिस्कस थ्रो में गत चैंपियन विकास गौड़ा को ट्रायल में निराशाजनक प्रदर्शन के बावजूद गुरुवार से यहां कलिंग स्टेडियम में होने वाली 22वीं एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में उतरने के लिए हरी झंडी मिल गई है, जहां उनका लक्ष्य खिताबी हैटिक बनाना होगा।

विकास सहित छह एथलीटों ने इस चैंपियनशिप में उतरने के लिए शनिवार और रविवार को अपना ट्रायल दिया था और उनके परिणाम चयन समिति के अध्यक्ष जीएस रंधावा को भेज दिए गए थे। समिति ने सभी छह एथलीटों को चैंपियनशिप में उतरने के लिए अपनी मंजूरी दे दी।

अमेरिका में रहने वाले स्टार डिस्कस थ्रोअर विकास बिना किसी प्रतियोगी तैयारी के भुवनेश्वर आए थे जिसके कारण उन्हें ट्रायल देने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने मई के आखिर में चुला विस्टा हाई परफार्मेंस मीट में 62.35 मीटर तक डिस्कस फेंका था, लेकिन यहां हुए ट्रायल में रविवार को उनका सर्वश्रेष्ठ प्रयास 57.79 मीटर रहा था। इसके बावजूद विकास को चैंपियनशिप में उतरने के लिए मंजूरी मिल गई। विकास ने 2013 में पुणे में और दो वर्ष बाद चीन के वुहान में स्वर्ण पदक जीते थे। विकास के पास अब स्वर्णिम हैटिक बनाने का मौका रहेगा।

गौड़ा के अलावा सिद्धांत थिंगाल्या (110 मीटर बाधा दौड़), लांग जंपर सिद्धार्थ मोहन नाइक और नयना जेम्स, टिपल जंपर कार्तिक उन्नीकृष्णन और जायलिन एम लोबो को भी हरी झंडी मिल गई है। इस प्रतियोगिता में भारत का 95 सदस्यीय मजबूत दल भाग लेगा, जिसमें 46 महिलाएं हैं।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

By
Pradeep Sehgal 

Tags:
author

Author: