एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप के विजेता एथलीटों को दिए गए नगद पुरस्कार सम्मान

एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप के विजेता एथलीटों को दिए गए नगद पुरस्कार सम्मान

भुवनेश्वर, प्रेट्र : ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने यहां संपन्न 22वीं एशियन एथलेटिक्स चैंपियनशिप में इतिहास बनाने वाले सभी भारतीय एथलीटों को सोमवार को नगद पुरस्कार प्रदान किए। भारतीय एथलीटों ने यहां कलिंग स्टेडियम में आयोजित इस चैंपियनशिप में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए सबसे अधिक 29 पदक जीते। इन पदकों में 12 स्वर्ण, पांच रजत और 12 कांस्य पदक शामिल हैं। भारत ने एशियाई महाशक्ति चीन को दूसरे स्थान पर छोड़ दिया।

भारतीय एथलीटों ने एशियन चैंपियनशिप के इतिहास में सबसे अधिक 29 पदक हासिल किए, जबकि इससे पहले उसने 1989 में दिल्ली में सर्वाधिक 22 पदक जीते थे। भारत ने सर्वाधिक 12 स्वर्ण भी जीते, जबकि इससे पहले उसने 1985 में जकार्ता में 10 स्वर्ण जीते थे।

मुख्यमंत्री पटनायक ने यहां में आयोजित एक समारोह में प्रत्येक स्वर्ण पदक विजेता एथलीट को दस लाख रुपये, प्रत्येक रजत पदक विजेता को 7.5 लाख रुपये तथा कांस्य पदक विजेता को पांच लाख रुपये की नगद पुरस्कार राशि प्रदान की। पुरस्कार विजेताओं में पुरुषों की दस हजार और पांच हजार मीटर स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले जी लक्ष्मणन तथा भाला फेंक स्वर्ण विजेता नीरज चोपड़ा शामिल थे।

ओडिशा के लिए महिला धाविका दुती चंद, श्रवणी नंदा और पूर्णिमा हेमब्राम ने पदक जीते। मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि कलिंग इंटरनेशनल स्पोर्ट्स सिटी का निर्माण होगा जहां भविष्य में इंटरनेशनल टूर्नामेंटों का आयोजन किया जाएगा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

By
Pradeep Sehgal 

Tags:
author

Author: