इन जनाब को महंगा पड़ा मेसी का हमशक्ल होना, जानिए क्या हुआ, देखें तस्वीरें

इन जनाब को महंगा पड़ा मेसी का हमशक्ल होना, जानिए क्या हुआ, देखें तस्वीरेंइन जनाब को महंगा पड़ा मेसी का हमशक्ल होना, जानिए क्या हुआ, देखें तस्वीरें

तेहरान। इरान के एक स्टूडेंट को अर्जेंटीना/बार्सिलोना के महान फुटबॉलर लिओनेल मेसी का हमशक्ल होना काफी भारी पड़ रहा है। इनका नाम है रेजा परातेश। शुरुआत में तो इस 25 वर्षीय इरानी युवक के लिए महान फुटबॉलर जैसा दिखना एक दिलचस्प पहलु था लेकिन ताजा घटना ने सबको सन्न कर दिया।

– गिरफ्तार होते-होते बचे

इरान के हमेदान शहर में जब परातेश सड़कों पर निकले तो उनको देखकर फुटबॉल फैंस स्तब्ध रह गए। वो उसी बार्सिलोना फुटबॉल क्लब की 10 नंबर वाली जर्सी भी पहने थे जहां से मेसी खेलते हैं। फिर क्या था। उनको देखने और उनके साथ सेल्फी लेने वालों की भीड़ लग गई।

शुरुआत में कुछ फैंस पहुंचे लेकिन धीरे-धीरे ये एक हंगामे में तब्दील हो गया। सड़क पर शांति बहाल करने के लिए पुलिस तुरंत परातेश को पकड़कर, उनको व उनकी गाड़ी को अपने साथ ले गई ताकि ट्रैफिक जाम हटाया जा सके। वो गिरफ्तार होने से बाल-बाल बचे।

– एक बार तो हद ही हो गई

परातेश का चेहरा व कद-काठी मेसी से इतना मेल खाती है कि एक ऐसा समय भी आया था जब मशहूर खेल वेबसाइट ‘यूरोस्पोर्ट यूके’ भी गलती कर गई। इस वेबसाइट ने ट्विटर पर मेसी से जुड़ी एक खबर का ट्वीट परातेश के फोटो के साथ पोस्ट कर दिया।

– कब शुरू हुआ पूरा हंगामा

दरअसल, कुछ महीने पहले परातेश के पिता, जो कि फुटबॉल के बहुत बड़े दीवाने हैं, उन्होंने अपने बेटे को बार्सिलोना की नंबर.10 जर्सी पहनकर पोज करने का दबाव बनाया। फोटो खींचने के बाद उनके पिता ने इन तस्वीरों को एक खेल वेबसाइट को भेज दिया। अगली सुबह ही उन्हें उस वेबसाइट से फोन आया कि वो तुरंत उनके यहां इंटरव्यू के लिए पहुंचे।

– फिर सब कुछ अच्छा लगने लगा

शुरुआत में तो परातेश को ये सब कुछ रास नहीं आया था लेकिन धीरे-धीरे उन्हें ये सब कुछ अच्छा लगने लगा। उन्होंने अपने बाल और दाढ़ी भी मेसी जैसा रखना शुरू कर दिया।

जब भी वो बाहर जाते हैं तो बार्सिलोना की नंबर.10 वाली जर्सी पहनकर ही जाते हैं। अब वो पूरी तरह से मीडिया में इंटरव्यू के लिए बुक रहते हैं और साथ ही साथ उन्हें कई मॉडलिंग कॉन्ट्रेक्ट भी मिलने लगे।

– जब पिता ने कहा ‘घर मत आना’

परातेश कहते हैं कि उन्हें अच्छा लगता है कि उन्हें देखकर लोग खुश होते हैं। परातेश फुटबॉल खेल लेते हैं लेकिन उन्होंने पेशेवर तौर पर कभी नहीं खेला।

परातेश ने इससे जुड़ा एक बेहद दिलचस्प किस्सा भी सुनाया। विश्व कप 2014 में इरान और अर्जेंटीना के बीच मैच था और 91वें मिनट में मेसी के गोल ने इरान को टूर्नामेंट से बाहर का रास्ता दिखा दिया था। उनके पिता उस रात इतना नाराज हुए कि अपने बेटे को फोन करके कहा कि आज रात घर मत आना, तुमने इरान के खिलाफ गोल क्यों किया?

– मेसी से मिलकर ये गुजारिश करना चाहते हैं परातेश

परातेश चाहते हैं कि वो बार्सिलोना जाएं और उनको मेसी से एक बार मिलने का मौका मिल सके। वो मेसी के साथ किसी भी प्रकार से जुड़ना चाहते हैं। वो कहते हैं, ‘विश्व का सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर होने के नाते उनके पास बहुत काम होगा जो वो पूरी तरह से निपटा नहीं पाते होंगे। जब वो व्यस्त होंगे तब मैं उनका प्रतिनिधित्व कर सकता हूं।’

देखना दिलचस्प होगा कि अगर मेसी कभी उनसे मिले तो ये मुलाकात कैसी होगी।

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

क्रिकेट से जुड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: