इनकी बहुत याद सताएगी, कहीं इनके बिना फीका न हो जाए चैंपियंस ट्रॉफी का मजा

इनकी बहुत याद सताएगी, कहीं इनके बिना फीका न हो जाए चैंपियंस ट्रॉफी का मजाइनकी बहुत याद सताएगी, कहीं इनके बिना फीका न हो जाए चैंपियंस ट्रॉफी का मजा

[स्पेशल डेस्क], नई दिल्ली। आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी अब बस कुछ दिन ही दूर है। इंग्लैंड में 1 जून से शुरू होने वाले इस टूर्नामेंट में दुनिया की 8 दिग्गज टीमें चैंपियन बनने के इरादे से उतरेंगी। बेशक फैंस को वनडे क्रिकेट का जबरदस्त रोमांच देखने को मिलेगा लेकिन साथ ही एक ऐसी कमी भी होगी जो बहुत खलने वाली है।

– पहली बार होगा ऐसा

हम यहां बात कर रहे हैं वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम की। आइसीसी के नियमों के हिसाब से 30 सितंबर 2015 की डेडलाइन तक आइसीसी वनडे रैंकिंग में जो 8 टीमें शीर्ष पर मौजूद रही थीं वही इस टूर्नामेंट में खेल सकेंगी और दुर्भाग्यवश वेस्टइंडीज के साथ ऐसा मुमकिन नहीं हुआ। वहीं बांग्लादेश की किस्मत अच्छी निकली और 2006 के बाद उनकी टूर्नामेंट में वापसी हो गई।

– चैंपियंस ट्रॉफी और वेस्टइंडीज

1998 में जब मिनी वर्ल्ड कप के रूप में चैंपियंस ट्रॉफी का आगाज हुआ था, तब से इस टूर्नामेंट के सभी संस्करणों में वेस्टइंडीज की टीम मौजूद थी। उन्होंने 2004 में इंग्लैंड में खेलते हुए ब्रायन लारा की कप्तानी में ये खिताब पहली बार जीता था, उसके बाद वे 2006 के चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में भी पहुंचे लेकिन वहां उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था।

– नहीं दिखेगा इनका जलवा

कीरोन पोलार्ड, ड्वेन ब्रावो, क्रिस गेल, मार्लन सैमुअल्स, लेंडल सिमंस, रोस्टन चेज, जेसन होल्डर, कार्लोस ब्रेथवेट, सुनील नरेन..और भी इनके जैसे तमाम धुरंधर खिलाड़ी हमको चैंपियंस ट्रॉफी में देखने को नहीं मिलेंगे। अजीब बात ये भी है कि जो टीम टी20 विश्व चैंपियन है, वही टीम इस टूर्नामेंट से बाहर रहेगी।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: