इंग्लैंड में एक ही दिन दो जगह पर खेलेंगे भारत और पाकिस्तान, दिलचस्प है वजह

इंग्लैंड में एक ही दिन दो जगह पर खेलेंगे भारत और पाकिस्तान, दिलचस्प है वजहइंग्लैंड में एक ही दिन दो जगह पर खेलेंगे भारत और पाकिस्तान, दिलचस्प है वजह

लंदन, जेएनएन। इंग्लैंड में चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत और पाकिस्तान के बीच खिताबी मुकाबला खेला जाएगा, लेकिन इसके साथ ही साथ एक और जगह होगी जहां ये दोनों टीमें एक दूसरे के खिलाफ खेल रही होंगी। मैदान अलग होगा, खेल अलग होगा, लेकिन देश यहीं दोनों होंगे। जी हां, जहां क्रिकेट में भारत और पाक चैपियंस ट्रॉफी के लिए जद्दोजहद करेंगे तो वहीं वर्ल्ड हॉकी लीग में भी भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला खेला जाएगा और मजेदार बात ये है कि ये मैच भी इंग्लैंड में ही खेला जाएगा।

कभी फाइनल नहीं खेला पाकिस्तान  

चैंपियंस ट्रॉफी के 19 साल के इतिहास मे ये पहला मौका है जब पाकिस्तान की टीम इस टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हुई है। इससे पहले पाक की टीम ने तीन बार सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था, लेकिन तीनों ही बार वो इससे आगे का सफर तय करने में नाकाम रही थी। इसके साथ ही साथ चैंपियंस ट्रॉफी के इतिहास में भी ये पहली बार होगा जब भारत और पाकिस्तान की टीम इस टूर्नामेंट के फाइनल में आमने-सामने होगी, लेकिन ठीक 10 साल पहले ये दोनों ही टीमें आईसीसी के टूर्नामेंट का फाइनल खेली चुकी हैं। द. अफ्रीका में खेले गए पहले टी-20 वर्ल्ड कप का फाइनल भी भारत और पाकिस्तान के बीच ही खेला गया था। उस मुकाबले को जीतकर टीम इंडिया ने टी-20 की पहली विश्व विजेता टीम बनीं थी और इतिहास रचकर लौटी थी।

हॉकी में भी होगा चक दे!

स्कॉटलैंड पर शानदार जीत से उत्साहित भारतीय हॉकी टीम शनिवार को जब वर्ल्ड हॉकी लीग (एचडब्ल्यूएल) सेमीफाइनल्स में कनाडा के खिलाफ उतरेगी तो उसका लक्ष्य एक और आसान जीत दर्ज करने का होगा।

दुनिया की छठे नंबर की भारतीय टीम के पास इस मैच को जीतकर पूल ‘बी’ में अपनी स्थिति और मजबूत करने का सुनहरी मौका है। इसके बाद उसे रविवार को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान और चौथे नंबर की टीम नीदरलैंड्स से सामना करना है।

दुनिया की 11वें नंबर की कनाडाई टीम के खिलाफ भारत का पलड़ा भारी है। कनाडा की टीम में भारतीय मूल के भी कुछ खिलाड़ी शामिल हैं। हालांकि स्कॉटलैंड के खिलाफ रोलैंट ओल्टमैंस की टीम का पहले दो क्वार्टर में खेल अच्छा नहीं रहा और निचले नंबर की टीम ने उसे कड़ी टक्कर दी।

तीसरे और चौथे क्वार्टर में भारत ने प्रतिद्वंद्वी टीम पर पूरी तरह से दबदबा बनाए रखा। तीसरे क्वार्टर में भारतीयों ने स्ट्राइकर रमनदीप के दो और आकाशदीप सिंह व हरमनप्रीत सिंह के एक-एक गोल के दम पर पूरे तीन अंक अर्जित किए। कनाडा के खिलाफ भारत को थोड़ी सी भी ढिलाई महंगी पड़ सकती है। वहीं, जीत उसे लगभग क्वार्टर फाइनल में पहुंचा देगी।

कनाडा टूर्नामेंट में अपना पहला मैच खेलेगा और वह भारत को हराकर बड़ा उलटफेर करने की फिराक में होगा। उसके पास खोने के लिए कुछ नहीं है। पूल ‘बी’ के ही एक अन्य मैच में नीदरलैंड्स का सामना स्कॉटलैंड से होगा और पूल ‘ए’ में कोरिया की भिड़ंत चीन और इंग्लैंड की मलेशिया से होगी।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

By
Pradeep Sehgal 

Tags:
author

Author: 

इंग्लैंड में एक ही दिन दो जगह पर खेलेंगे भारत और पाकिस्तान, दिलचस्प है वजह

इंग्लैंड में एक ही दिन दो जगह पर खेलेंगे भारत और पाकिस्तान, दिलचस्प है वजहइंग्लैंड में एक ही दिन दो जगह पर खेलेंगे भारत और पाकिस्तान, दिलचस्प है वजह

लंदन, जेएनएन। इंग्लैंड में चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भारत और पाकिस्तान के बीच खिताबी मुकाबला खेला जाएगा, लेकिन इसके साथ ही साथ एक और जगह होगी जहां ये दोनों टीमें एक दूसरे के खिलाफ खेल रही होंगी। मैदान अलग होगा, खेल अलग होगा, लेकिन देश यहीं दोनों होंगे। जी हां, जहां क्रिकेट में भारत और पाक चैपियंस ट्रॉफी के लिए जद्दोजहद करेंगे तो वहीं वर्ल्ड हॉकी लीग में भी भारत और पाकिस्तान के बीच मुकाबला खेला जाएगा और मजेदार बात ये है कि ये मैच भी इंग्लैंड में ही खेला जाएगा।

कभी फाइनल नहीं खेला पाकिस्तान  

चैंपियंस ट्रॉफी के 19 साल के इतिहास मे ये पहला मौका है जब पाकिस्तान की टीम इस टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हुई है। इससे पहले पाक की टीम ने तीन बार सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था, लेकिन तीनों ही बार वो इससे आगे का सफर तय करने में नाकाम रही थी। इसके साथ ही साथ चैंपियंस ट्रॉफी के इतिहास में भी ये पहली बार होगा जब भारत और पाकिस्तान की टीम इस टूर्नामेंट के फाइनल में आमने-सामने होगी, लेकिन ठीक 10 साल पहले ये दोनों ही टीमें आईसीसी के टूर्नामेंट का फाइनल खेली चुकी हैं। द. अफ्रीका में खेले गए पहले टी-20 वर्ल्ड कप का फाइनल भी भारत और पाकिस्तान के बीच ही खेला गया था। उस मुकाबले को जीतकर टीम इंडिया ने टी-20 की पहली विश्व विजेता टीम बनीं थी और इतिहास रचकर लौटी थी।

हॉकी में भी होगा चक दे!

स्कॉटलैंड पर शानदार जीत से उत्साहित भारतीय हॉकी टीम शनिवार को जब वर्ल्ड हॉकी लीग (एचडब्ल्यूएल) सेमीफाइनल्स में कनाडा के खिलाफ उतरेगी तो उसका लक्ष्य एक और आसान जीत दर्ज करने का होगा।

दुनिया की छठे नंबर की भारतीय टीम के पास इस मैच को जीतकर पूल ‘बी’ में अपनी स्थिति और मजबूत करने का सुनहरी मौका है। इसके बाद उसे रविवार को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान और चौथे नंबर की टीम नीदरलैंड्स से सामना करना है।

दुनिया की 11वें नंबर की कनाडाई टीम के खिलाफ भारत का पलड़ा भारी है। कनाडा की टीम में भारतीय मूल के भी कुछ खिलाड़ी शामिल हैं। हालांकि स्कॉटलैंड के खिलाफ रोलैंट ओल्टमैंस की टीम का पहले दो क्वार्टर में खेल अच्छा नहीं रहा और निचले नंबर की टीम ने उसे कड़ी टक्कर दी।

तीसरे और चौथे क्वार्टर में भारत ने प्रतिद्वंद्वी टीम पर पूरी तरह से दबदबा बनाए रखा। तीसरे क्वार्टर में भारतीयों ने स्ट्राइकर रमनदीप के दो और आकाशदीप सिंह व हरमनप्रीत सिंह के एक-एक गोल के दम पर पूरे तीन अंक अर्जित किए। कनाडा के खिलाफ भारत को थोड़ी सी भी ढिलाई महंगी पड़ सकती है। वहीं, जीत उसे लगभग क्वार्टर फाइनल में पहुंचा देगी।

कनाडा टूर्नामेंट में अपना पहला मैच खेलेगा और वह भारत को हराकर बड़ा उलटफेर करने की फिराक में होगा। उसके पास खोने के लिए कुछ नहीं है। पूल ‘बी’ के ही एक अन्य मैच में नीदरलैंड्स का सामना स्कॉटलैंड से होगा और पूल ‘ए’ में कोरिया की भिड़ंत चीन और इंग्लैंड की मलेशिया से होगी।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

By
Pradeep Sehgal 

Tags:
author

Author: