आज तक नहीं बदली इंदौर की परंपरा, यहां खास टीम बनती है सिकंदर

आज तक नहीं बदली इंदौर की परंपरा, यहां खास टीम बनती है सिकंदरआज तक नहीं बदली इंदौर की परंपरा, यहां खास टीम बनती है सिकंदर

इंदौर (किरण वाईकर)। मुंबई इंडियंस ने गुरुवार को आइपीएल 2017 में किंग्स इलेवन को 8 विकेटों से हराकर लगातार पांचवीं जीत दर्ज की। मुंबई की जीत के साथ ही इंदौर के होलकर स्टेडियम में आइपीएल मैचों में बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम की जीत की परंपरा कायम रही।

इंदौर में खेला गया यह आइपीएल का कुल पांचवां मैच था और हर बार लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम ही विजयी हुई है। आइपीएल 2011 के तहत इंदौर में दो मैच हुए थे और इस बार 2017 में तीन मैच खेले गए और हर बार बाद में बल्लेबाजी करते हुए टीम ने आसानी से लक्ष्य हासिल किया।

होलकर स्टेडियम के छोटे मैदान के बावजूद एक बार भी नजदीकी मैच नहीं हुआ और दर्शक रोमांचक मुकाबले के लिए तरसे। वैसे मुंबई इंडियंस के खिलाफ किंग्स इलेवन के हाशिम अमला ने शतक अवश्य जड़ा, लेकिन उनके इस प्रयास पर मुंबई के जोस बटलर, नीतीश राणा और पार्थिव पटेल की पारियां भारी पड़ी।

होलकर स्टेडियम में हुए आइपीएल के मैच

मैच 1- 13 मई 2011: किंग्स इलेवन ने टॉस जीतकर कोच्चि टस्कर्स को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। कोच्चि के 178/7 के जवाब में किंग्स इलेवन ने 7 गेंद शेष रहते 4 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया।

मैच 2- 15 मई 2011: कोच्चि टस्कर्स ने टॉस जीतकर राजस्थान रॉयल्स को पहले बल्लेबाजी के लिए बुलाया। रॉयल्स की पारी को 97 रनों पर समेटकर कोच्चि ने मात्र 7.2 ओवरों में 2 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल किया।

मैच 3- 8 अप्रैल 2017: किंग्स इलेवन ने टॉस जीतकर राइजिंग पुणे सुपरजायंट को पहले बल्लेबाजी के लिए बुलाया। पुणे को 163/6 पर रोकने के बाद किंग्स ने 6 गेंद शेष रहते 4 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल किया।

मैच 4- 10 अप्रैल 2017: आरसीबी ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। निर्धारित 20 ओवरों में 4 विकेट खोकर 148 रन बनाए। जवाब में पंजाब ने 33 गेंद बाकी रहते 2 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया।

मैच 5- 20 अप्रैल 2017: मुंबई इंडियंस ने टॉस जीतकर फील्डिंग चुनी। किंग्स इलेवन पंजाब ने 4 विकेट पर 198 रन बनाए। जवाब में मुंबई इंडियंस ने 27 गेंद शेष रहते 2 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया।

आइपीएल की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: 

Leave a Reply