अब आप ही तय करें कि कल रात युवराज ने ये सही किया या गलत?

अब आप ही तय करें कि कल रात युवराज ने ये सही किया या गलत?अब आप ही तय करें कि कल रात युवराज ने ये सही किया या गलत?

(शिवम् अवस्थी), स्पेशल डेस्क- नई दिल्ली। क्रिकेट और राजनीति, भारत में दोनों ही मामलों में ज्यादातर लोगों की कुछ न कुछ राय होती ही है। कौन सही या कौन गलत, ये अलग विषय है लेकिन चर्चा तो होनी ही है। क्रिकेट के मैदान पर भी सोमवार रात कुछ ऐसा ही हुआ जिस पर तमाम लोगों की तमाम राय होंगी। आइए जानते हैं कि क्या है पूरा मामला।

– मैच का नौवां ओवर

मुंबई के खिलाफ इस मैच में हैदराबाद पहले फील्डिंग कर रही थी। इस दौरान नौवां ओवर जब खत्म हुआ तो हैदराबाद की टीम के साथ-साथ तमाम फैंस के चेहरे मायूस हो गए। वजह ये थी कि युवराज सिंह कमर के नीच हाथ रखकर दर्द में नजर आ रहे थे और वो मैदान से बाहर चले गए। शायद फील्डिंग के दौरान कुछ खिंचाव आया होगा। हालांकि कुछ देर में वो मैदान पर लौट आए।

– फिर आया 16वां ओवर

इसके बाद 16वें ओवर की चौथी गेंद पर रोहित शर्मा ने बैकवर्ड पोइंट दिशा में एक करारा शॉट खेला जहां युवराज फील्डिंग कर रहे थे। युवी ने गेंद तो रोक ली लेकिन उसके बाद हाथ पकड़कर बैठ गए। चेहरे पर दर्द साफ दिखा। मैदान पर टीम डॉक्टर भी पहुंच गए। कुछ मिनट इलाज हुआ और युवराज एक बार फिर फील्डिंग करने लगे।

– इसके बाद आया अहम समय

मुंबई ने 139 रन का लक्ष्य दिया और जवाब में हैदराबाद ने 98 रन पर अपने दो विकेट गंवा दिए। दर्द में थे लेकिन एक बार फिर युवराज सिंह मैदान पर थे। जसप्रीत बुमराह की पहली गेंद खेली और फिर से हाथ पकड़कर दर्द से कराह उठे युवी। पूरे ओवर हर गेंद के बाद यही नजारा रहा। उन्होंने कुल 11 गेंदें खेलीं और 9 रन बनाकर कैच आउट हो गए। इन सभी 11 गेंदों को खेलते वक्त युवराज दर्द से कराह रहे थे ये नजारा सबने देखा।

– आखिर क्यों ?

कल दिन में ही चैंपियंस ट्रॉफी के लिए टीम इंडिया का एलान हुआ। तमाम कयासों के बाद इस टीम में युवराज सिंह का नाम भी शामिल था लेकिन शाम को युवराज मैदान पर उतरते हैं और चोटिल होने के बावजूद बार-बार लगातार खेलते रहते हैं। दर्द होता रहा लेकिन वो फील्डिंग भी करते रहे और बल्लेबाजी भी। लक्ष्य छोटा था, टीम जीत के करीब भी थी, क्या किसी और बल्लेबाज को प्रमोट नहीं किया जा सकता था, क्या युवी को खुद ये नहीं समझना चाहिए था कि 4 जून को भारत को पाकिस्तान के खिलाफ चैंपियंस ट्रॉफी का अपना पहला मैच खेलना है? अगर उनकी चोट गंभीर हो गई तो टीम इंडिया को कैसा झटका लगेगा? कुछ लोग इसे स्पोर्ट्समैन स्पिरिट (खेल भावना) का नाम देंगे तो कुछ आइपीएल में खिलाड़ी पर खर्च किए गए पैसे का दबाव। क्या होगी असल वजह और क्या है आपकी राय ये आप खुद तय कर सकते हैं।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: