सचिन तेंदुलकर ने देश के युवाओं को दिया सफलता का मंत्र

सचिन तेंदुलकर ने देश के युवाओं को दिया सफलता का मंत्र

मुंबई, पीटीआइ। दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने देश के युवाओं से खेल गतिविधियों में शामिल होकर स्वस्थ बने रहने की अपील करते हुए मंगलवार को यहां कहा कि अस्वस्थ जनसंख्या देश के लिए घातक है।

तेंदुलकर को यहां एक समारोह में सोनी पिक्चर्स नेटवर्क इंडिया का ब्रांड दूत नियुक्त किया गया। उन्होंने इस अवसर पर कहा, ‘2020 तक भारत जनसंख्या की दृष्टि से सबसे युवा देश बन जाएगा। लेकिन मोटापे के मामले में हम दुनिया में तीसरे नंबर पर हैं। अस्वस्थ युवा जनसंख्या देश के लिए घातक है। भारत को जरूरत है कि उसके युवा खेल गतिविधियों में अधिक से अधिक भागीदारी करें।

तेंदुलकर ने कहा, ‘खेल मेरी जिंदगी है। यह मेरे लिए ऑक्सीजन की तरह है। इसके बिना जीना मुश्किल है। कई लोग इसे पेशा कहते हैं, लेकिन मुझे इसे पेशा कहना पसंद नहीं है। मैं इसे जुनून कहता हूं। मैं हमेशा खेलों के प्रति जुनूनी रहा।’ उन्होंने इसके साथ ही उम्मीद जतायी कि छह से 27 अक्टूबर तक होने वाले फीफा अंडर-17 विश्व कप में भारतीय टीम का हौसला बढ़ाने के लिए बड़ी संख्या में दर्शक पहुंचेंगे। यह टूर्नामेंट छह शहरों में खेला जाएगा।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक लगाने वाले इस स्टार बल्लेबाज ने कहा, ‘जब मैं 16 साल का था तब मैंने शुरुआत की थी। इसलिए आपको इस टूर्नामेंट में भी विश्वस्तरीय खिलाड़ी दिखेंगे। मैं इसको लेकर उत्साहित हूं। किसी भी खेल के विश्व कप में खिलाड़ी किसी भी तरह से समझौता नहीं करना चाहते हैं और अन्य को कोई ढील नहीं देना चाहते हैं।

मैं जब रियो (पिछले साल ओलंपिक खेलों के दौरान) में था तब मैंने रग्बी देखा जिसमें महिलाएं खेल रही थीं। उसे देखना शानदार अनुभव था।’ अंडर-17 विश्व कप हमारे लिए बड़ा मौका होगा, जिसमें हम अपना समर्थन किसी अन्य खेल (क्रिकेट के अलावा) दिखा सकते हैं। मुझे उम्मीद है कि दर्शक आयोजकों को निराश नहीं करेंगे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

By
Pradeep Sehgal 

Tags:
author

Author: