भारत से हारने के बाद इस बड़े सवाल का जवाब ढूंढ रहे हैं डिविलियर्स

भारत से हारने के बाद इस बड़े सवाल का जवाब ढूंढ रहे हैं डिविलियर्सभारत से हारने के बाद इस बड़े सवाल का जवाब ढूंढ रहे हैं डिविलियर्स

लंदन, अभिषेक त्रिपाठी। चैंपियंस ट्रॉफी में भारत से हारने के बाद दक्षिण अफ्रीकी कप्तान एबी डिविलियर्स ने कहा कि उन्हें समझ में नहीं आता है कि उनकी टीम बड़े टूर्नामेंटों में दबाव के आगे घुटने क्यों टेक देती है? जब उनसे पूछा गया कि वह कप्तान क्यों बने रहना चाहते हैं तो डिविलियर्स ने कहा कि क्योंकि मैं अच्छा कप्तान हूं। मैं इस टीम को आगे ले जा सकता हूं। मैं इसे विश्व कप दिला सकता हूं। मेरा ऐसा विश्वास है और यह विश्वास मुझे यहां भी था। मैं ईमानदारी से कहूं तो कइयों को मुझ पर भरोसा नहीं होगा, लेकिन मुझे लगता है कि हम विश्व कप जीतने के करीब हैं। मुझे नहीं लगता कि इसमें समय लगेगा। इस तरह के प्रदर्शन के बाद यह कहना कठिन है, लेकिन मुझे दिल से इस पर यकीन है।

डिविलियर्स 2016 में टेस्ट कप्तानी छोड़ चुके हैं और इस साल इंग्लैंड के खिलाफ चार मैचों की सीरीज नहीं खेलेंगे। उन्होंने कहा कि उनकी टीम ने काफी प्रयास किया, लेकिन खराब प्रदर्शन तैयारी में चूक की वजह से नहीं हुआ। हमने कई चीजें आजमाईं, शिविर हो या मनोवैज्ञानिक से सलाह हो या और कुछ भी। यह कोई समस्या नहीं थी। हम बस अच्छा नहीं खेल सके। टीम में आमूलचूल बदलाव के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह सवाल उन लोगों से पूछा जाना चाहिए जो फैसले लेते हैं। यह मेरा फैसला नहीं है। हमें इंतजार करना होगा कि आगे क्या फैसला आता है। जहां तक पिछले मैच की बात है तो हम खेल के किसी भी क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए। भारतीय टीम ने हम पर दबाव बनाए रखा। 

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

By
Pradeep Sehgal 

Tags:
author

Author: