बल्लेबाज लोकेश राहुल के मुताबिक अभी भी खेल भारत के हाथों से नहीं निकला

बल्लेबाज लोकेश राहुल के मुताबिक अभी भी खेल भारत के हाथों से नहीं निकलाबल्लेबाज लोकेश राहुल के मुताबिक अभी भी खेल भारत के हाथों से नहीं निकला

विशेष संवाददाता, धर्मशाला। भले ही भारतीय टीम चौथे टेस्ट के दूसरे दिन के आखिरी सत्र में चार विकेट गंवाकर लड़खड़ा गई हो, लेकिन ओपनर केएल राहुल को लगता है उनकी स्थिति खराब नहीं है। उन्होंने कहा कि भारतीय टीम पूरे दिन जिन हालातों में खेली उसमें चार विकेट शेष रहते 248 रन बना लेना कतई बुरा नहीं। ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने गेंद सही जगह डाली और दबाव बनाए रखा। ऐसा नहीं है कि जब वह ढीले पड़े, तो हमने उन पर रन नहीं कूटे लेकिन टेस्ट क्रिकेट में ऐसे दिन आते हैं। आपको सत्र दर सत्र उसे निकालना पड़ता है।

इस सीरीज के छह में से पांच पारियों में अर्धशतक जमाने वाले राहुल ने कहा कि उन्हें इस बात का ज्यादा मलाल नहीं है कि वह पिछली कुछ पारियों में अर्धशतक को शतक में तब्दील नहीं कर पाए। यह सीरीज मेरे लिए अच्छी गुजरी है। यह ठीक है कि मैं शतक नहीं बना सका, लेकिन इससे निराश नहीं हूं। इस टेस्ट मैच की दूसरी पारी बाकी है। क्या पता तब वह पारी खेल सकूं जिसकी आस मन में है।

खराब शॉट पर आउट होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि पैट कमिंस ने बहुत अच्छी गेंदबाजी की। मैं एक खराब शॉट खेल कर उनकी गेंद पर आउट हुआ, लेकिन ऐसा मैं अब कह पा रहा हूं। बाहर बैठ कर मैं खुद पर सौ सवाल दाग सकता हूं। क्रीज पर मुझे तब वही शॉट खेलना ठीक लगा। कुल मिलाकर आइडिया अच्छा था, लेकिन उस पर अमल ठीक ढंग से नहीं कर पाया। मैच में कोहली के कप्तान नहीं होने की कमी पर उन्होंने कहा कि हम उनकी कमी तो महसूस करते हैं क्योंकि वह एक ऐसे बल्लेबाज और नेतृत्वकर्ता हैं, जो दूसरों के लिए एक नजीर पेश करते हैं। लेकिन यह हम सबके लिए एक मौका भी है। हम उनके बगैर भी दबाव लेना सीखें और जिम्मेदारी निभाएं।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अभी लंबा सफर तय करना है : लियोन

चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन चार विकेट चटका भारत को बैकफुट पर धकेलने वाले ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज नाथन लियोन का कहना है कि इस टेस्ट सीरीज में अभी लंबा रास्ता तय करना बाकी है। लियोन ने कहा, ‘पहले दो सत्रों में हमने साझेदारी से गेंदबाजी कर अच्छी कोशिश की, लेकिन दिन चढ़ने के साथ ही स्पिन और बाउंस में उछाल आया। यह मैच बेंगलुरु में हुए मैच से मिलता-जुलता है। हम जल्द से जल्द बाकी बचे चार विकेट भी लेना चाहेंगे और इसके बाद दूसरी पारी में अच्छी बल्लेबाजी करना चाहेंगे। आशा है हम अच्छा करें, क्योंकि भारतीय टीम की बल्लेबाजी शानदार है और उन्हें नियमित तौर पर चुनौती देने की जरूरत है। अभी इस सीरीज में लंबा सफर तय करना बाकी है।’ अब देखना दिलचस्प होगा कि मैच के तीसरे दिन लियोन भारतीय पुछल्ले बल्लेबाजों पर कैसे अपना प्रभाव डालते हैं।

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: