बच्चों को यूं बचाएं वायु प्रदूषण 

 

नई दिल्ली :  आज के समय में वायु प्रदूषण के कारण बहुत सारी स्वास्थय समस्याएं होने लगी हैं. ना सिर्फ बच्चों को बल्कि बड़े-बुजुर्ग भी इन हेल्थ समस्याओं से गुजर रहे हैं.

 

वायु प्रदूषण फेफड़ों और श्वसन प्रणाली और दिल की सेहत को बहुत अधिक प्रभावित कर रहा है. बच्चों को वायु प्रदूषण का खतरा सबसे ज्यादा है क्योंकि उनका इम्यून सिस्टम और फेफड़े पूरी तरह से विकसित नहीं होते.

 

बच्चों को हो सकती हैं कई समस्याएं –

  • वायु प्रदूषण के कारण बच्‍चों को अस्थमा होने की आशंका बढ़ जाती है.

  • वायु प्रदूषण श्वसन संक्रमण बढ़ा सकता हैं

  • फेफड़ो को बुरी तरह से प्रभावित कर सकता है.

  • वायु प्रदूषण से बच्चे एलर्जी कारकों के प्रति बेहद संवेदनशील हो सकते हैं.

  • अत्यधिक प्रदूषित क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए मृत्यु का जोखिम बढ़ जाता है

  • बच्चे बीमार महसूस करने लगते हैं.

 

बच्चों में वायु प्रदूषण के प्रभाव को यूं करें कम –

  • अपने आसपास की जगह पर वायु प्रदूषण का स्तर चैक करें और उसी के तहत अपनी आगे की चीजों को प्लान करें.

  • अगर स्मॉग अधिक है तो बच्चों को आउटडोर गेम्सक खेलने से रोकें. 

  • अगर बच्चा बाहर जाता भी है तो सुबह सवेरे ही बच्चे को बाहर खेलने दें.

  • ध्यान रखें जब बच्चा घर से बाहर जलाए तो एंटी पॉल्‍यूशन मास्क पहन कर रखें.

  • बच्चे को अधिक से अधिक तरल पदार्थ खिलाएं.

  • जब पॉल्यूशन बहुत अधिक हो तो उस जगह बच्चे को जाने से रोके.

  • अपने बच्चे की सेहत का ध्यान रखें. यदि उसे अस्थमा या एलर्जी है तो उसकी एक्टिविटीज पर नजर रखें. डॉक्टर से पहले ही सलाह-मशविरा कर लें.

Tags:
author

Author: