नॉर्थईस्ट यूनाईटेड ने चेन्नईयिन एफसी को 2-0 से हराया

गुवाहाटी: नॉर्थईस्ट यूनाईटेड ने इंडियन सुपर लीग फुटबॉल टूर्नामेंट में 10 खिलाड़ियों के साथ खेल रही चेन्नईयिन एफसी को 2-0 से हराकर सत्र की पहली जीत दर्ज की. यह मैच हालांकि विवाद का हिस्सा भी रहा और दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने हिंसक रवैया भी अपनाया.

 

पुर्तगाल के मिडफील्डर सिमाओ साब्रोसा ने 90वें मिनट में पेनल्टी को गोल में बदलकर नार्थईस्ट को बढ़त दिलाई जबकि अर्जेन्टीना के फॉरवर्ड निकोलस लिएंड्रो वेलेज ने इंजरी टाइम के पांचवें मिनट में दूसरा गोल दागकर मेजबान टीम को मौजूदा सत्र के पहले अंक दिलाए.

 

मैच के दौरान हालांकि काफी गहमागहमी देखने को मिली और रैफरी को इस दौरान एक लाल और 10 पीले कार्ड दिखाने पड़े.

 

चेन्नईयिन की टीम को 40 मिनट के बाद से 10 खिलाड़ियों के साथ खेलना पड़ा जब हरमनजोत खाबरा को हिंसक व्यवहार करने के लिए रैफरी ने लाल कार्ड दिखाया.

 

हाफ टाइम से पहले नॉर्थईस्ट के मुख्य कोच सेसार फारियास और चेन्नईयिन टीम के उनके समकक्ष मार्को मातेराज्जी के बीच भी बहस हुई. इसके बाद दोनों टीमों के खिलाड़ी और अधिकारी आमने सामने आ गए और मैच में लगभग पांच मिनट का विलंब हुआ. मेहमान टीम के कप्तान बर्नार्ड मेंडी ने फारियास का पीछा किया और अन्य खिलाड़ियों और रैफरी को उन्हें पकड़कर रोकना पड़ा. मैच खत्म होने के बाद भी मेंडी फारियास के पीछे भागे और इसके बाद दोनों टीमों के खिलाड़ियों के बीच धक्का मुक्की हुई. रैफरी को इसके बाद हस्तक्षेप करना पड़ा और सुरक्षा अधिकारियों ने इंदिरा गांधी स्टेडियम में लगभग 20000 दर्शकों के सामने स्थिति को बिगड़ने से रोका.

 

मैच के 77वें मिनट में मेजबान टीम के साब्रोसा और चेन्नईयिन एफसी के मेहराजुद्दीन वाडू भी उलझ गए और दोनों को पीला कार्ड दिखाया गया.

Tags:
author

Author: