दिवाली पर पटाखों पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे मासूम बच्चे

नई दिल्ली: शुद्ध हवा में सांस लेने के अधिकार के लिए सुप्रीम कोर्ट में तीन नवजात बच्चों ने ऐसी याचिका दाखिल की है जो आपको भी सोचने पर मजबूर कर देगी. आपको बता दें कि 6 से 14 माह के तीन मासूम बच्चों ने दशहरे और दीपावली पर पटाखे जलाने पर पाबंदी लगाने की मांग की है.

 

6 से 14 महीने के बच्चों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर साफ हवा में सांस लेने के अधिकार की मांग करते हुए निर्देश देने की मांग की है. याचिका में मांग की गई है कि दशहरा और दीवाली जैसे त्योहारों पर पटाखों की ब्रिकी पर रोक लगाई जाए.

 

आपको बता दें कि अर्जुन गोपाल, आरव भंडारी और जोया राव भसीन नाम के इन बच्चों की ओर से उनके पिताओं ने जनहित याचिका दायर की है. इस याचिका में उन्होंने कहा है कि दिल्ली में वायु प्रदूषण के चलते हालात खराब हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि दिल्ली में त्योहार के वक्त पटाखों की वजह से कई बीमारियां भी हो रही हैं.

 

इसके साथ ही राजधानी के आसपास करीब 500 टन फसलों के अवशेष जलाए जाते हैं. ऐसे में सुप्रीम कोर्ट कोई ठोस दिशा निर्देश जारी करे और प्रदूषण पर रोक लगाए. सुप्रीम कोर्ट इस मामले की सुनवाई अगले हफ्ते कर सकता है.

Tags:
author

Author: