टेस्ट सीरीज का तोहफा साबित हुए ये दो धुरंधर, विराट सेना में इन्होंने फूंकी जान

टेस्ट सीरीज का तोहफा साबित हुए ये दो धुरंधर, विराट सेना में इन्होंने फूंकी जानटेस्ट सीरीज का तोहफा साबित हुए ये दो धुरंधर, विराट सेना में इन्होंने फूंकी जान

धर्मशाला, (प्रेट्र)। भारत ने चौथे व अंतिम टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया को हराकर न सिर्फ सीरीज जीती बल्कि टेस्ट में भी अपनी बादशाहत को कायम रखा। इस सीरीज में विराट का बल्ला तो कुछ खास नहीं बोला लेकिन ये घरेलू सीजन खत्म होते-होते उनको दो ऐसे तोहफे मिल गए जो आने वाले समय में उनकी टीम को और मजबूती देंगे। 

यहां हम बात कर रहे हैं स्पिनर-ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा और तेज गेंदबाज उमेश यादव की। ये दोनों बेशक लंबे समय से भारतीय टीम में मौजूद रह चुके हैं लेकिन इनका आए दिन लय से बाहर होना टीम इंडिया के लिए बड़ी मुश्किल बन चुकी थी। टेस्ट टीम में विराट, पुजारा और अश्विन जैसे खिलाड़ी तो लगातार अच्छा प्रदर्शन कर ही रहे थे लेकिन सीजन खत्म होते-होते ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इस सीरीज में जडेजा और उमेश यादव ने ऐसी प्रदर्शन किया कि निरंतर न होने का ठप्पा इन दोनों के ऊपर से हट गया।

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

भारत ने इस घरेलू क्रिकेट सीजन के 13 मैचों में से 10 में जीत दर्ज की जिस दौरान पुजारा ने 13 मैचों में 1316 रन बनाए जबकि कप्तान कोहली ने 1252 रन जिसमें चार सीरीज में लगातार चार दोहरे शतक भी शामिल रहे। इसके अलावा अश्विन ने भी एक सीजन में सर्वाधिक 82 विकेट का रिकॉर्ड बना डाला। ये सभी खिलाड़ी तो चमकते ही रहे लेकिन कप्तान और फैंस को इंतजार था इनके अलावा भी उन खिलाड़ियों के चमकने का जो अब तक फीके साबित हो रहे थे। जडेजा और उमेश ने वो काम भी पूरा कर दिया। जडेजा ने इस सीरीज के चार मैचों की छह पारियों में 127 रन बनाए वहीं उन्होंने सर्वाधिक 25 विकेट भी लिए और मैन ऑफ द सीरीज का खिताब जीता। उधर, उमेश यादव ने इस सीरीज के 4 मैचों में 17 विकेट झटके जबकि इस घरेलू टेस्ट सीरीज में उन्होंने 13 टेस्ट मैचों में 30 विकेट झटके। आने वाले समय में अब देखना ये होगा कि ये दोनों विदेशी जमीन पर कैसे भारतीय टीम को मजबूती देते हैं।

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Tags:
author

Author: