क्या भारत-पाक मैच से भी बेकार होगा कल का मैच, जानिए श्रीलंकाई टीम की हकीकत !

क्या भारत-पाक मैच से भी बेकार होगा कल का मैच, जानिए श्रीलंकाई टीम की हकीकत !क्या भारत-पाक मैच से भी बेकार होगा कल का मैच, जानिए श्रीलंकाई टीम की हकीकत !

नई दिल्ली, [स्पेशल डेस्क]। भारत और पाकिस्तान के बीच रविवार को हुए मुकाबले पर हमेशा की तरह सबकी नजरें टिकी हुई थीं। सबको उम्मीद थी कि ये मुकाबला रोमांचक होगा लेकिन बारिश से प्रभावित ये मैच एकतरफा साबित हुआ और विराट सेना ने 124 रनों से विशाल जीत दर्ज की। सोशल मीडिया पर ज्यादातर लोगों ने यही लिखा कि इस मैच ने उनकी रविवार की छुट्टी खराब कर दी, जैसी टक्कर की उम्मीद थी, वैसा कुछ भी नहीं हुआ। अब बारी है कल (बुधवार) होने वाले भारत-श्रीलंका मैच की।

– कई बार आएं हैं आमने-सामने

कल भारत और श्रीलंका की टीमें आमने-सामने होंगी। बड़े टूर्नामेंट में फैंस ने इन दोनों टीमों को कई बार भिड़ते देखा है। चर्चित मुकाबलों में 2011 का विश्व कप फाइनल ही ले लीजिए जहां भारत ने जीत दर्ज करके खिताब जीता था। वहीं, 2002 की चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में भी यही दोनों टीमें आमने-सामने थीं लेकिन बारिश की वजह से मैच बार-बार रुका तो दोनों टीमों को चैंपियन घोषित कर दिया गया। इसके अलावा ये दोनों टीमें कई बार द्विपक्षीय वनडे सीरीज में भी आमने-सामने आ चुकी हैं। खेल विशेषज्ञ अनिल कुमार कहते हैं, ‘भारत और श्रीलंकाई टीम इतनी बार आमने-सामने आ चुकी हैं कि एक समय फैंस इससे बोर हो चुके थे। आलम ये था कि कुछ साल पहले जब वेस्टइंडीज ने भारत दौरा बीच में छोड़ दिया तो इसकी भरपाई के लिए भी श्रीलंका को ही बुलाया गया था।’ 

– इस बार ये है हकीकत

एक समय था जब श्रीलंकाई टीम दुनिया की सबसे घातक वनडे टीमों में शुमार होती थी लेकिन मौजूदा स्थिति वैसी नहीं है। ऐसे में अगर आप एक बेहद रोमांचक मुकाबले की उम्मीद लगाए बैठे हैं तो आपको निराशा भी हाथ लग सकती है क्योंकि इस श्रीलंकाई टीम के ताजा आंकड़े और प्रदर्शन उम्मीद मुताबिक नहीं हैं। संगकारा और जयवर्धने जैसे दिग्गजों के संन्यास के बाद ये टीम लगातार बिखरती चली गई और अब वे वनडे रैंकिंग में छठे स्थान पर हैं। आलम ये है कि आइसीसी वनडे रैंकिंग में उनके और सातवें स्थान पर मौजूद बांग्लादेश के रेटिंग अंक (92) बराबर हैं। 

– ये हैं वो आंकड़े जो सोचने पर मजबूर करते हैं

श्रीलंकाई टीम की हालत इस समय बहुत बुरी चल रही है। वनडे क्रिकेट में इस टीम का पिछले एक साल में प्रदर्शन इतना खराब रहा है कि दिग्गज भारतीय टीम के खिलाफ उनका टिकना मुश्किल ही लग रहा है। हमने कुछ आंकड़ों को खोजने का प्रयास किया जो आपको सोचने पर मजबूर कर देंगे.. 

1. पिछले एक साल में श्रीलंकाई टीम ने कुल 26 वनडे मैच खेले हैं जिसमें से उन्हें सिर्फ 7 मैचों में उन्हें जीत मिली है जबकि 15 मैचों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। एक मैच टाई रहा जबकि तीन मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला।

2. आपको हैरानी होगी कि पिछले एक साल में इस श्रीलंकाई टीम ने अपने घर में 8 वनडे मैच खेले हैं और घर में खेलने के बावजूद वे इनमें से 2 मैच ही जीते हैं जबकि 5 मैचों में उन्हें हार का सामना करना पडा़ और एक मैच का कोई नतीजा नहीं निकला।

3. आंकड़ों में हमको हैरान करने वाली बात ये भी मिली कि पिछले 2 सालों में भारत और श्रीलंका के बीच एक भी वनडे मैच नहीं खेला गया है। दोनों टीमें आखिरी बार 2014 में आमने-सामने थीं। पिछले तीन सालों की बात करें तो इस दौरान दोनों टीमों के बीच कुल 5 वनडे मैच खेले गए और पांचों में श्रीलंका को हार का सामना करना पड़ा। जिसमें तीन बार वे पहले बल्लेबाजी करते हुए हारे जबकि दो बार बाद में बल्लेबाजी करते हुए।

4. आखिरी बार ये दोनों टीमें 16 नवंबर 2014 को रांची में आमने-सामने आई थीं और उस मैच में उनके कप्तान एंजेलो मैथ्यूज ने नाबाद 139 रनों की पारी खेली थी जिसके दम पर उन्होंने भारत को 287 रनों का लक्ष्य दिया था। जवाब में कप्तान विराट कोहली ने भी उतने ही रनों (नाबाद 139) की पारी खेलकर 48.4 ओवर में ही भारत को 3 विकेट से जीत दिला दी थी।

5. एक समय था जब श्रीलंका में चमिंडा वास, संगकारा, जयवर्धने, मुरलीधरन जैसे कई दिग्गज मौजूद थे लेकिन उस पूरे दौर को भी मिला लें तो वनडे क्रिकेट में भारत के खिलाफ उनके आंकड़े बेहद कमजोर हैं। दोनों देशों के बीच अब तक 149 वनडे मैच खेले गए हैं। जिस दौरान भारत ने 83 मैच जीते हैं जबकि श्रीलंका को 54 मैचों में ही जीत मिली है। एक मैच टाइ रहा जबकि 11 मैचों का कोई नतीजा नहीं निकला। 

– किस काम के ऐसे स्टार्स

एंजेलो मैथ्यूज

अगर कुछ अन्य मुश्किलों की बात करें तो उसमें सबसे बड़ी समस्या है दिग्गजों की गैरमौजूदगी। संगकारा और जयवर्धने के बाद उनकी टीम लगातार बिखरती गई है और युवा खिलाड़ी उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे। टीम के कप्तान उपुल थरंगा अनफिट होने के कारण बाहर रहेंगे। ऐसे में कमान एंजेलो मैथ्यूज के हाथों में रहेगी। मैथ्यूज ने पिछले एक साल में 11 वनडे मैच खेले हैं जिस दौरान उन्होंने 425 रन बनाए हैं और 9 विकेट लिए हैं।

लसिथ मलिंगा

वहीं, उनके मुख्य व सबसे अनुभवी गेंदबाज लसिथ मलिंगा हैं जो लगातार अपनी गेंदबाजी के लिए कम बल्कि खराब फिटनेस को लेकर चर्चा में रहे हैं। पिछले एक साल में मलिंगा ने कुल 1 वनडे मैच खेला है। वो मैच भी इसी चैंपियंस ट्रॉफी में 3 जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला गया था और मलिंगा ने उस मैच में 10 ओवर में बिना कोई विकेट लिए 57 रन लुटा दिए थे।

यह भी पढ़ेंः जब बांग्लादेश के खिलाफ दिखा ऑस्ट्रेलिया का बाएं हाथ का खेल

Tags:
author

Author: 

Leave a Reply