काजोल की चीता से, गौतम गंभीर की Bull से और इम्तियाज की हैंड फैन से तुलना क्यों कर रहे हैं शाहरुख़

काजोल की चीता से, गौतम गंभीर की Bull से और इम्तियाज की हैंड फैन से तुलना क्यों कर रहे हैं शाहरुख़

अनुप्रिया वर्मा, मुंबई। शाहरुख़ खान और काजोल ने कई फिल्मों में साथ में अभिनय किया है और उनकी ज्यादातर फिल्में कामयाब ही रही है। काजोल और शाहरुख़ बहुत अच्छे दोस्त भी हैं। ऐसे में जाहिर है, दोनों ही एक-दूसरे के बारे में सारे राज़ जानते होंगे। यही वजह है कि हाल ही में जब शाहरुख़ से यह पूछा गया कि काजोल का नाम जेहन में आते ही आपके जेहन में उन्हें लेकर पहली बात क्या आती है, तो शाहरुख ने कहा कार।

शाहरुख़ ने कहा कि ऐसा नहीं है कि वह कार की शौकीन हैं इसलिए ऐसा कह रहे, बल्कि वह ऐसा इसलिए कह रहे, क्योंकि उनका मानना है कि काजोल बहुत ही अच्छी ड्राइविंग करती है और वह उनके इस गुण के फैन हैं।फिर जब शाहरुख़ से यह पूछा गया कि उनका नाम लेते ही किस जानवर का ख्याल जेहन में आता है तो शाहरुख ने फौरन कहा चीता का, चूंकि चीता जैसे फटाफट और दिमाग लगाकर फुर्ती से सारे काम करता है, काजोल कुछ वैसी ही है। वही इम्तियाज़ अली के बारे में भी शाहरुख ने काफी दिलचस्प जवाब देते हुए बताया कि इम्तियाज़ उन्हें लायन की तरह दिखते हैं, जैसे लायन बिल्कुल शांत होकर बड़े आराम से काम करता है, इम्तियाज़ वैसे ही हैं।शाहरुख़ ने दिलचस्प अंदाज़ में इम्तियाज़ की तुलना हैंड फैन से की। उन्होंने कहा कि जैसे हैंड फैन यानि हाथों वाले पंखे का काम होता है कि वह हवा भी दे जाता है, लेकिन शोर नहीं करता। इम्तियाज़ ठीक वैसे ही हैं। वह बिल्कुल शांत होकर काम कर जाते हैं। इसके अलावा इम्तियाज़ का ख्याल आते ही उनके जेहन में यूरोप का ख्याल आता है। चूंकि इम्तियाज़ यूरोप को काफी पसंद करते हैं।

यह भी पढ़ें: न ही कोई गॉडफादर है और न ही कोई Famous boyfriend, जो भी हूं अपने दमपर – रिचा चड्ढा

वही जब शाहरुख़ से गौतम गंभीर के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि उन्हें लगता है गौतम बुल की तरह हैं, जो कि स्ट्रांग भी हैं। शाहरुख़ ने यह भी बताया कि उन्हें लगता है कि गौतम एनिमेटेड कैरेक्टर की तरह भी हैं, जो कि बातों को ज्यादा एक्सप्रेस नहीं करते। एक मास्क से उनकी तुलना की जा सकती है। बता दें कि शाहरुख़ ‘जब हैरी मेट सेजल’ में एक गाइड की भूमिका निभाने जा रहे हैं। लेकिन शाहरुख़ ने खुद स्वीकारा है कि उन्हें रास्ते याद नहीं रहते। उनकी फिल्म 4 अगस्त को रिलीज़ होगी।

By
Rahul soni 

Tags:
author

Author: