आज ही के दिन लॉर्ड्स पर भारत को मिली थी पहली जीत, दिल जीतने वाला था ये स्कोरकार्ड

आज ही के दिन लॉर्ड्स पर भारत को मिली थी पहली जीत, दिल जीतने वाला था ये स्कोरकार्डआज ही के दिन लॉर्ड्स पर भारत को मिली थी पहली जीत, दिल जीतने वाला था ये स्कोरकार्ड

नई दिल्ली, [स्पेशल डेस्क]। आजकल इंग्लैंड में चैंपियंस ट्रॉफी खेली जा रही है। ये वही इंग्लैंड है जहां भारत ने पहली बार 1983 में विश्व कप खिताब जीता था। हम विश्व चैंपियन तो बन गए थे लेकिन क्रिकेट के लंबे फॉर्मेट यानी टेस्ट क्रिकेट में अब भी एक कसर बाकी थी। ये कसर थी इंग्लैंड व क्रिकेट के सबसे प्रतिष्ठित मैदान ‘लॉर्ड्स’ पर जीत। हमने वनडे विश्व कप का फाइनल इसी मैदान पर जीता था लेकिन 11 बार कोशिश करने के बावजूद हम इस मैदान पर कोई टेस्ट नहीं जीत पाए थे। आज के दिन इतिहास बदल गया था।

– भारत ने टॉस जीता

इस मैच में भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग करने का फैसला किया था। ये तीन मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला था। इंग्लैंड पहले बल्लेबाजी करने उतरा और 294 रन बनाकर ऑलआउट हो गया। इस दौरान भारत के चेतन शर्मा ने पांच विकेट जबकि रोजर बिन्नी ने तीन विकेट हासिल किए थे। भारत ने टेस्ट में सधी हुई शुरुआत की थी इसलिए सबकी नजरें अब भारत के बल्लेबाजों पर थी।

– वेंगसरकर ने मचाया धमाल

भारतीय टीम जवाब देने उतरी और सब देखते रह गए। मोहिंदर अमरनाथ ने 241 गेंदों पर 69 रनों की बेहद धीमी पारी खेली जबकि चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए दिलीप वेंगसरकर ने 213 गेंदों पर नाबाद 126 रनों की पारी खेलकर कमाल कर दिया। भारतीय टीम 341 रन पर ऑलआउट हुई और 47 रनों की बढ़त हासिल कर ली।

– दूसरी पारी में दिखा ऑलराउंडर कपिल का दम

इंग्लैंड दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने उतरा लेकिन उन्हें ऑलराउंडर कपिल देव के कहर का सामना करना पड़ा। कपिल देव ने 52 रन लुटाते हुए 4 विकेट हासिल किए। जबकि मनिंदर सिंह ने 20.4 ओवर में महज 9 रन लुटाते हुए 3 विकेट झटक लिए। नतीजतन इंग्लैंड की पूरी टीम 180 रनों पर ही सिमट गई।

– अंतिम दिन कप्तान की धुआंधार पारी

अंतिम दिन भारत के सामने 134 रनों का लक्ष्य था। भारत ने 78 रन पर अपने चार विकेट गंवा दिए थे लेकिन कपिल देव ने दिखा दिया कि वो टेस्ट में भी वनडे जैसी बल्लेबाजी करने का दम रखते हैं। कपिल ने 10 गेंदों पर नाबाद 23 रनों की पारी खेली और अपनी टीम को पांच विकेट से लॉर्ड्स के मैदान पर वो एतिहासिक जीत दिलाई जिसके लिए भारत न जाने कितने सालों से इंतजार कर रहा था। 

– तब से अब तक

लॉर्ड्स पर जीत कितनी मुश्किल रही है और यहां जीतना कितना अहम रहा है इसका अंदाजा आप कुछ आंकड़ों से लगा सकते हैं। आपको बता दें कि उस दिन मिली जीत के बाद से भारत ने अब तक लॉर्ड्स पर सिर्फ एक ही बार जीत दर्ज की है। वो जीत जुलाई 2014 में कप्तान महेंद्र सिंह धौनी की अगुआइ में हासिल हुई थी। उस मैच में भारत ने 95 रनों से इंग्लैंड को हराया था। दूसरी पारी में सात विकेट लेने वाले भारतीय तेज गेंदबाज इशांत शर्मा मैन ऑफ द मैच बने थे। यानी भारत ने 1932 से 2014 के बीच लॉर्ड्स पर 17 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें से वे सिर्फ दो बार जीतने में सफल रहे। 

यह भी पढ़ेंः वही मैदान, वही महीना, वही जोड़ी, इन दोनों ने इंग्लैंड का गुस्सा भारत पर निकाला

By
Shivam Awasthi 

Tags:
author

Author: 

Leave a Reply